अंतरंग संबंधों का वीडियों बनाकर मांग रहे थे 20 लाख, हुआ खुलासा

(शुभम तिवारी+91 78793 08359)
शहडोल। अपने अंतरंग संबंधों के फोटो और वीडियो बनाकर मोबाइल में रखना युवक को इतना भारी पड़ गया कि उसे इसकी कीमत लाखों देकर चुकानी पड़ी, मुख्यालय में रहने वाले कथित व्यापारी के द्वारा अपनी ही मोबाइल में बनाये गये वीडियों और अंतरंग संबंधों के खीचे गये फोटो उसके कथित नौकर द्वारा चोरी-छुपे मोबाइल से निकाल लिये गये और फिर उसने अपने मित्रों के साथ मिलकर अपने ही मालिक को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। ब्लैकमेलरों ने पहले फोटो और वीडियों उसके वॉट्सप पर भेजे और फिर उसे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया, वॉयरल न करने की आड़ में व्यापारी से 20 लाख रूपये मांगे गये, सभी तरफ हाथ-पांव मारने के बाद जब कोई हल नहीं निकला तो यह रकम किस्तों में देना तय हुआ। पहली किस्त 1 लाख रूपये की देने के बाद पीडि़त ने बीती 13 फरवरी को सोहागपुर थाने में आकर अपनी आप-बीती सुनाकर शिकायत दी।
पुलिस अधीक्षक कुमार सौरभ के निर्देशन में थाना प्रभारी सोहागपुर विकास सिंह के साथ नागेन्द्र सिंह, राकेश सिंह बागरी, दिलीप सिंह, राकेश मिश्रा, प्रताप सिंह, निखिल श्रीवास्तव, राजेन्द्र सिंह, संतोष सिंह, आर.केशव धाकड़ व सायबर सेल से आर.प्रशांत सोनी और सत्यप्रकाश मिश्रा की टीम बनाई गई और इन्होंने महज 48 घंटों के अंदर ही पूरे मामले का खुलासा करते हुए 5 में से 3 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया।
सोहागपुर पुलिस द्वारा इस आशय की जो प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई, उसमें पूरी घटना के साथ इस बात का उल्लेख किया गया कि शिकायत मिलने के बाद सबसे पहले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ भादवि की धारा 384, 506, 507 कायम किया गया और बीते 10 दिनों में ही बातचीत और सूत्रों को एक साथ पिरोकर अगले ही दिन ब्रजेन्द्र सिंह पिता बाबूलाल ङ्क्षसह, अंकित सोनी पिता संतोष एवं अमोल सिंह पिता मंगलिया सिंह को गिरफ्तार किया गया।
पुलिस ने आरोपियों के पास से 52 हजार रूपये नगद भी जब्त किये, इसके अलावा ब्लैकमेलिंग के लिए प्रयुक्त किये गये दो मोबाइल सेट, एक स्कूटी, एक अपाचे कंपनी की मोटरसाईकल तथा 315 बोर का देशी कट्टा एवं जिंदा कारतूस भी जब्त किया है। जबकि दो और साथी अभी फरार है, जिन्हें पुलिस ढूंढ रही है। पुलिस कप्तान कुमार सौरभ ने सोहागपुर थाने की पुलिस टीम को उचित पारितोषिक देने की घोषणा की है।

हालाकि प्रेस नोट के साथ ही मीडिया को दिये गये जानकारी में सोहागपुर पुलिस ने इस बात का कहीं उल्लेख नहीं किया कि कथित पीडि़त ने खुद के जो वीडियों और फोटो बनाये थे, उस संबंध में पुलिस ने क्या जांच की, साथ ही जिसके साथ उसके फोटो और वीडियो बने थे, उसके साथ कथित पीडि़त के नैतिक या अनैतिक क्या संबंध थे, बनाये गये वीडियो और खीचे गये फोटो में पीडि़त के साथ दिखने वाले पार्टनर की सहमति थी या नहीं यह अभी जांच के विषय हैं या फिर यह कहें की यह सब मामले के खुलासे के साथ फाईल में ही बंद हो जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.