हिमाद्री नें वोट के लिये पिता के साथ घोर विरोधी को जोडा, मिला नोटिस

वोट की खातिर धुर-विरोधियों की फोटो भाजपा के पोस्टरों में
शहडोल। संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी श्रीमती हिमाद्री सिंह नें चुनावी पोस्टर में बिना अनुमती के अपने स्वर्गीय माता पिता की फोटो के साथ उनकें उम्र भर राजनैतिक प्रतिद्वंदी रहें पूर्व भाजपा सांसद स्वर्गीय दलपत सिंह परस्ते को बिना उनके परिजनो की इजाजत के एक साथ खडा कर दिया। यही नही छापे गये पंपलेट पूरे संसदीय क्षेत्र में बांट दिये गये, बुधवार को जब इसकी जानकारी स्व. दलपत सिंह परस्ते को लगी तो, उन्होने संसदीय क्षेत्र के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र सौपते हुए तत्काल फोटो हटाने की मांग की।
यह लिखा पत्र में
स्व. दलपत ङ्क्षसह परस्ते मूलत: पुष्पराजगढ के वाशिंदे रहे और उन्होने स्व. दलवीर ङ्क्षसह व स्व. श्रीमती राजेश नंदिनी सिंह के खिलाफ भाजपा के बैनर तले उनसे कई बार खिलाफ में चुनाव लडे, श्री परस्ते के समस्त परिवार की ओर से कमला बाई परस्ते ने पत्र में लिखा कि हमारे पूण्य पिता जी, जीवन पर्यंत कांग्रेस और दलवीर ङ्क्षसह परिवार के राजनैतिक प्रतिद्वंदि रहे है। आज उनके बिना अनुमति के सिर्फ फोटो की खातिर भाजपा प्रत्याशी ने अपने कांग्रेस नेता व स्व. माता-पिता की फोटो हमारे पिता के साथ लगा दिये है। तत्काल इस संबंध में कार्यवाही कर फोटो पृथक की जाये।
खुद भी की थी शिकायत
आज से पहले श्रीमती हिमाद्री सिंह ने भी कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती प्रमिला ङ्क्षसह के खिलाफ कांग्रेस नेता व पूर्व सांसद रहे हिमाद्री ङ्क्षसह के माता-पिता की फोटो बिना अनुमति के लगाये जाने की शिकायत की थी, जिसे निर्वाचन अधिकारी ने संज्ञान में लेते हुए कांग्रेस के बैनरो से कांग्रेस के पूर्व सांसद के छायाचित्र हटाने संबंधी आदेश दिये गये थे। सवाल यह उठता है कि खुद दूसरे की शिकायत करने वाली श्रीमती हिमाद्री सिंह ने दूसरे के पिता की फोटो अपने बैनर में लगवा ली। शिकायत करते समय या फोटो लगाते समय उन्हे इस बात का ख्याल नही रहा कि राजनैतिक प्रतिद्वंदि को कटघरे में खडे करने से पहले खुद ऐसे कृत्यो से बचना चाहिए।

भाजपा प्रत्याशी से मांगा जवाब
स्व. दलपत सिंह परस्ते के परिजनों के द्वारा की गई शिकायत के बाद निर्वाचन आयोग ने तत्काल ही संज्ञान में लिया और संसदीय क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी चंद्र मोहन ठाकुर ने भाजपा प्रत्याशी को इस संदंर्भ ने नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed