अव्यवस्थाओं के बीच छात्रों का शैक्षिक भ्रमण

छात्रों को पीनें के पानी के लिय भटकना पड़ा

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। जिले के विभिन्न स्कूलों से हिंदुस्तान पावर कंपनी जैतहरी भ्रमण के लिए शिक्षा विभाग की तरफ से छात्र-छात्राओं को रविवार के दिन ले जाया गया था। जहां भारी अव्यवस्थाएं देखने को मिली। विभाग द्वार जिन्हें भी जिम्मेदारी दी गई थी उनकी लापरवाही के कारण बच्चों को दिन भर इधर से उधर भटकना पड़ा। स्कूल के छात्र और छात्राओं को सुबह से ही अव्यवस्था के कारण परेशान होना पडा। सुबह 8 बजे बच्चों को निर्धारित स्थान में बुला कर 4 घंटे इंतजार के बाद रवाना किया गया। भ्रमण के लिये सुबह 9 बजें की जगह दोपहर के 12 बजें रवाना किया गया।
पानी के लिये मशक्कत
जैतहरी पहुंचते ही जिस पार्क में बच्चों को नास्ते व भोजन के लिए चिन्हित किया गया था वहां अव्यवस्था का आलम दिखाई दिया। छात्रों को पीनें के पानी के लिय भटकना पड़ा। टूर मैनेजमेंट की लापरवाही से बच्चों को पीनें का पानी के लिये दिनभर परेशान होना पडा। बच्चों द्वारा स्वयं पानी के लिये स्त्रोत ढूढऩा पडा। और वही पानी पीनें को बच्चे मजबूर हुये। सुबह से प्यासे बच्चों को भ्रमण के दौरान पानी के लिए पानी पाउच सिर्फ एक ही दिया जाता है, अगर कोई दो पीना चाहे तो उसे नही मिलता था।
घंटो इंतजार के बाद मिला भोजन
भ्रमण के दौरान दिन भर से परेशान छात्रों को न तो नश्ता और नही अन्य सुविध मिली। दिन भर छात्र भुखे प्यासे राह देखते रहे। विभाग नें सम्बंधित लोगों को जिम्मेदारी दी थी तो भ्रमण के दौरान हुये असुविधा के लिये कौन जिम्मेदार होगा। सभी बच्चे एक साथ भोजन भी नही कर पाये, कारण जिसे भोजन के लिए व्यवस्था करने को जिम्मा दिया गया था, वह भी लापरवाह था, न तो समय पर भोजन लाया और न ही सही तरीके से बंटवारा कर पाया, जिसके कारण भोजन के लिए घंटो परेशान होना पडा।
बाहर से देखकर लौटे छात्र
बस में बैठे-बैठे हिन्दुस्तान पावर प्लांट जैतहरी को देखकर डेम पहुंचे जहां 5 मिनट का स्टापेज हुआ और सीधे वहां से कंपनी के बाहर छात्र लौट गये, दिनभर का समय छात्रों को महज 15 किलोमीटर ले जाने और लाने का व्यतीत हो गया। तकरीबन 1 बजे जैतहरी पहुंचे जहां छात्रों को नस्ता और भोजन करते 4 बज गये जिसके बाद प्लांट भ्रमण के लिए ले जाया गया और बाहर से ही दिखाकर वापस अपने गंतव्य की ओर रवाना कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *