आत्मग्लानि बनी मौत का सबब, मामला दर्ज, धरपकड़ तेज

सुसाइड नोट से हुआ खुलासा,
मामला आंगनबाड़ी सहायिका के द्वारा की गई आत्महत्या का

अनूपपुर। जिले के भालूमाड़ा थाना अंतर्गत रहने वाली महिला द्वारा बीते दिनों फांसी के फंदे पर झूलकर अपनी जान दे दी, उक्त घटना से कुछ दिन पहले 4 अप्रैल को महिला ने स्थानीय जमुना-कोतमा एरिया के आमाडांड माईंस में कार्य कर रहे कालरी कर्मचारी के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस को दी थी, इस मामले में जब महिला थाने में शिकायत करने पहुंची थी, तब उसने पुलिस अधीक्षक तक को दूरभाष पर अपनी व्यथा सुनाई थी, जिसे गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक जगत सिंह राजपूत ने भालूमाड़ा थाना प्रभारी मनोज दीक्षित सहित एसडीओपी कोतमा एस.एन. प्रसाद को इस मामले में निर्देश दिये थे, पुलिस ने इस मामले में पीडि़त महिला की शिकायत पर आरोपी ब्रजेश अहिरवार के खिलाफ भादवि की धारा 458, 354, 323 व 190 के तहत अपराध कायम किया और उसे गिरफ्तार कर पुलिस अभिरक्षा में माननीय न्यायालय में पेश किया था।
आत्मग्लानि बना मौत का कारण
पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार तो कर लिया गया, लेकिन वह न्यायालय से जमानत पर छूट गया और छूटने के बाद वह सीधे अपने पैतृक गांव चला गया, इस बीच आरोपी के छूटने की खबर पूरे अंचल में आग की तरह फैल गई और महिला को संभवत: इस बात की आत्मग्लानि हुई कि उसके साथ छेड़छाड़ करने के बाद आरोपी छूट गया और जब यह चर्चाएं पड़ोस के लोग करने लगे तो महिला इससे डिप्रेशन में चली गई और उसने आत्महत्या कर ली।
जांच जारी, दर्ज हुआ फिर अपराध
घटना की सूचना मिलने के बाद जमुना कालरी के वार्ड नंबर 2 राठौर दफाई में रहने वाली मृतिका साधना वर्मा के शव को पुलिस ने फंदे से उतरवाने के बाद पंचनामा व आदि कार्यवाही की, साथ ही पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट भी जब्त किया है, जिसमें यह उल्लेख है कि ”मेरी मौत का जिम्मेदार ब्रजेश अहिरवार है और इसमें किसी का कोई हाथ नहींÓÓ पुलिस ने उक्त सुसाइड नोट को जब्त कर हेंडराईटिंग एक्सपर्ट के यहां जांच के लिए भेज दिया है, वहीं ब्रजेश अहिरवार के खिलाफ पुन: गैर इरादतन हत्या का भादवि की धारा 306 के तहत अपराध कायम किया है, साथ ही आरोपी को गिरफ्तार करने के प्रयास भी तेज कर दिये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.