उत्पादन बढ़ाने के फेर में कोयले में मिलाई जा रही मिट्टी

(अजय नामदेव- 7610528622)

कोतमा। एसईसीएल जमुना कोतमा क्षेत्र की जीवनदायिनी कही जाने वाली आमाडॉड ओसीपी पर कॉलरी प्रबंधन ने कोयले में मिट्टी मिलाने का खेल इस तरह से खेल रही है की करोड़ों का मुनाफा जल्द ही कमा ले
ओसीपी पर कोयले के साथ मिट्टी मिलाई जा रही है जिससे कोयला खरीदारों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है कोयले खरीददार तो कोयले का पूरा पैसा चुका रहे हैं लेकिन इन्हें नहीं पता की कॉलरी प्रबंधन मिट्टी के साथ कोयला मिलाकर इन्हें दे रही है जिससे कोयला खरीददार को लाखों का नुकसान और कॉलरी  प्रबंधन को फायदा पहुंच रहा है ।

अपनी कमी छुपाने के लिए प्रबंधन खेलती है या खेल

बताया गया की कॉलरी प्रबंधन इसलिए कोयले में मिट्टी  मिलाती है कि यहां से चोरी छुपे सैकड़ों गाड़ियां कोयला कॉलरी प्रबंधन चोरी छुपे बड़े व्यापारियों को बेच देती है और उसकी भरपाई करने के लिए भारी पैमाने पर कोयले में मिट्टी मिलाकर उसे बराबर किया जाता है जिससे कॉलरी के अधिकारियों को अच्छा खासा लाभ होता है तो दूसरी ओर अपने उद्योग के लिए खरीदने वाले व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है ।

पूर्व में भी मामला आया था प्रकाश में

वैसे तो पूर्व में भी कई बार कॉलरी प्रबंधन  कोयले में मिट्टी मिलाने के हरकत को स्थानीय  मीडिया ने कई बार उजागर किया है लेकिन कॉलरी के अधिकारी इस से बाज नहीं आते और अपने इस काले कारनामे को निरंतर जारी रखते हैं बताया जाता है कि 20 टन कोयले में 3 टन से भी अधिक मिट्टी मिलाकर कोयला बेचा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *