एसबीआई द्वारा 20 लाख का दुर्घटना बीमा किया गया प्रदान

Ajay Namdev-7610528622

अनूपपुर। देश की सबसे अग्रणी राष्ट्रीयकृत बैंक भारतीय स्टेट बैंक शाखा कोतमा कालरी में ग्राहकों को बैंकिंग सुविधा के साथ-साथ जनरल बीमा की सेवा में भी बेहतर सुविधाएं प्रदान कर रही है। एसबीआई शाखा कोतमा कालरी द्वारा अपने ग्राहक की जनरल एक्सीडेंटल बीमा करने के बाद बीमा धारक की दुखद मौत एक्सीडेंट में आठवें दिन होने पर बैंक द्वारा बीमा धारक के परिवार को 20 लाख रूपए की बीमा राशि प्रदान की। एसबीआई शाखा के सहायक मंगल सिंह ने बताया कि भालूमाडा अमन चौक निवासी जवाहरलाल जो कालरी कर्मचारी थे, उनका वेतन व लेन देन शाखा में था, जिन्हें एसबीआई जनरल एक्सीडेंटल बीमा की जानकारी प्रदान कर 20 अगस्त 2018 को एक हजार रुपए सालाना का एसबीआई जनरल एक्सीडेंटल बीमा किया गया था, बीमा करने के आठवें दिन जवाहरलाल का उत्तर प्रदेश के चंदौली में सड़क दुर्घटना में दुखद मृत्यु हो गई थी, जिसकी सूचना मृतक के पुत्र द्वारा बैंक में दी गई जहां बैंक के बीमा सहायक मंगल सिंह ने परिजनों से आवश्यक दस्तावेज लेकर दुर्घटना बीमा की भुगतान की कार्यवाही पूर्ण करते हुए 18 मार्च 19 को मृतक के परिजन व पत्नी श्रीमती केसरी देवी को बीमा की राशि 20 लाख का चेक प्रदान किया गया।
परिवार के लिए है सहारा
शाखा प्रबंधक सुजीत कुमार ने बताया कि यह अत्यंत ही दुखद पल था, लेकिन बीमा धारक द्वारा अपने परिवार को बहुत बड़ा सहारा देकर गए हैं, अक्सर लोग एसबीआई की दुर्घटना बीमा को नजरअंदाज करते हैं लेकिन एसबीआई दुर्घटना बीमा अत्यंत सरल व सहज है, अन्य बीमा कंपनियों में क्लेम के लिए तरह तरह के दस्तावेज पॉलिसी कार्ड सहित अनेक जटिलताएं होती है, जबकि एसबीआई द्वारा खाता धारक के खाते से जमा की गई बीमा राशि ही सबसे बड़ा दस्तावेज होता है जिसमें शाखा द्वारा शीघ्र ही क्लेम का भुगतान किया जाता है, वह भी सबसे कम प्रीमियम में। सोमवार 18 मार्च को एसबीआई शाखा कोतमा कालरी परिसर में दुर्घटना बीमा राशि का चेक प्रदान करते समय शाखा प्रबंधक सुजीत कुमार, क्षेत्राधिकारी रामलाल सेवइयां, सेवा सहायक परमेश्वर मुर्मू, सहायक मंगल सिंह, तिलक यादव, अमित कुमार, अजय सिंह, धनूरजय साहू, राजीव कुमार, सहित बड़ी संख्या में ग्राहक व अन्य लोग उपस्थित थे, जिन्हें भी एसबीआई दुर्घटना बीमा की जानकारी प्रदान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed