कल्याणकारी योजनाओं का प्रभावी और परिणाममूलक हो क्रियान्वयन :कमिश्नर

विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिये निर्देश

(Anil Tiwari+91 88274 79966)
शहडोल। कमिश्नर आर.बी. प्रजापति ने कलेक्टर कार्यालय में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सभी विभागीय अधिकारी शासन द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं और विकास कार्यो का सकारात्मक सोच के साथ प्रभावी और परिणाम मूलक क्रियान्वयन करना सुनिश्चित करें। शासन द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों को मिलना चाहिए। जिन योजनाओं के क्रियान्वयन में हम सबसे पीछे है उन योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन कर अच्छी स्थिति में लाएं। उन्होंने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे उनके अधीनस्थ कर्मचारियों को सकारात्मक सोच के साथ जन कल्याणकारी कार्य करने के लिए निरंतर प्रेरित और प्रोत्सहित करें साथ ही कर्मचारियों की समस्याऐं भी सुनें और उनकी समस्याओं का निराकरण करना भी सुनिश्चित करें। कमिश्नर आर. बी. प्रजापति ने बुधवार को कलेक्टर कार्यालय में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में विभागीय अधिकारियों को उक्त निर्देश दिए।
कमिश्नर ने कहा कि शासन द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों को सभी विभागीय अधिकारी नकारात्मक दृष्टिकोण से न लें, बल्कि समाचार पत्रों में छपने वाली खबरों को संज्ञान में लेकर अपने कार्यों में सुधार लाएं अपने कर्मचारियों के कार्यों में सुधार कर शासकीय कार्यों में सुचिता तथा पारदर्शिता लाएं। कमिश्नर नेे अधिकारियेां को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी विभागीय अधिकारी आम लोगों से मिलने वाली शिकायतों का सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ निराकरण करें। कलेक्टर कार्यालय में संचालित शिकायत शाखा के प्रभारी अधिकारी सक्रियता के साथ कार्य करें। शिकायत शाखा को प्रभावी बनाएं।
उन्होंने कार्यालय को प्राप्त होने वाली जिले से संबंधित शिकायत कार्यवाही हेतु कलेक्टर कार्यालय को प्रेषित की गई है, इन शिकायतों का त्वरित निराकरण करना सुनिश्चित करें। आगामी माह में वह स्वंय शिकायत शाखा के प्रभारी की पेशी कमिश्नर कार्यालय में लेगें और शिकायतों के निराकरण की समीक्षा करें। आम लोगों से मिलने वाली शिकायतों के निराकरण को सभी अधिकारी अति गंभीरता से लें और शिकायतों का निराकरण समय-सीमा में करना सुनिश्चित करें। बैठक में जनाधिकार कार्यक्रम (सीएम हेल्पलाईन) की शिकायतों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि आगामी सात दिवसों में सीएम हेल्पलाईन की शत-प्रतिशत शिकायतों का निराकरण हो जाना चाहिए। कमिश्नर ने निर्देश दिए है कि सीएम हेल्पलाईन में प्राप्त शिकायतों का सतत निराकरण सभी विभागीय अधिकारी सुनिश्चित कराएं।
कमिश्नर ने निर्देश दिए कि सीएम हेल्पलाईन की लगभग 300 शिकायतें कमिश्नर के खाते में दर्ज है इनका सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ निराकरण होना चाहिए। जिस स्तर पर सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों में गतिरोध उत्पन्न हो रहा है ऐसे अधिकारियों कर्मचारियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध, सख्त कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी पार्थ जायसवाल, उपायुक्त राजस्व दिलीप पांण्डेय, संयुक्त कलेक्टर सुरेश अग्रवाल, डिप्टी कलेक्टर धर्मेन्द्र मिश्रा, डिप्टी कलेक्टर सुश्री पूजा तिवारी, उपायुक्त सहकारिता, श्रीमती शकुन्तला ठाकुर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय, श्रम पदाधिकारी श्रीमती संध्या सिंह, जिला पेंशन अधिकारी पद्म साहू, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास सुश्री रेणू भट्ट, खनिज अधिकारी सुश्री फरहत जहॉ, जिला शिक्षा अधिकारी रणमत सिंह धुर्वे, जिला समन्वयक जिला शिक्षा केद्र डॉ. मदन त्रिपाठी, जिला परिवहन अधिकारी श्री भदौरिया, परिवहन अधिकारी आशुतोष भदोरिया एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed