खण्ड चिकित्सा अधिकारी ने घर-घर दी दस्तक

कर्मचारियों के साथ किया स्वास्थ्य परीक्षण

(रामनारायण पाण्डेय+9993811045)
जयसिंहनगर। दस्तक अभियान का शुभारंभ 10 जून से प्रारंभ जिसमें 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों का घर घर जाकर स्वास्थ्य किया जा रहा है स्वास्थ्य अमला चाहे वो डॉक्टर हो या नर्सों, एएनएम कोई भी स्वास्थ्य कर्मचारी हो सब का सहयोग सराहनीय रहता है, जिसमें खंड चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर राजेश तिवारी द्वारा अपने स्वास्थ्य अमले के साथ दस्तक अभियान के जरिए स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है, दस्तक अभियान मे महिला बाल विकास विभाग का भी सराहनीय योगदान है।

बीमारियों की पहचान एवं उपचार
जयसिंहनगर स्वास्थ्य विभाग द्वारा महिला बाल विकास विभाग के सहयोग से चलाये जाने वाले दस्तक अभियान का शुभारंभ महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को दस्तक टूल किट जिसमें 12 गतिविधियों की आवश्यक दवाओं के साथ प्रदान कर दस्तक अभियान का शुभारंभ किया गया। दस्तक अभियान के अंतर्गत आशा, आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं एएनएम संयुक्त रूप से घर-घर जा कर 05 वर्ष से कम आयु के बच्चों की जानकारी प्राप्त कर विभिन्न प्रकार की बीमारियों की पहचान एवं उपचार कार्य करेंगी।
परिजनों को समझाइस
दस्तक अभियान के अंतर्गत 05 वर्ष से कम उम्र के गम्भीर कुपोषित बच्चों की सक्रिय पहचान रेफरल एवं प्रबंधन, 06 माह से 05 वर्ष तक के बच्चों में गम्भीर एनीमिया की पहचान कर उनका प्रबंधन, 02 माह से 05 वर्ष तक के समस्त बच्चों को विटामिन ए अनुपूरण पिलाई जायेगी। 05 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में दस्त रोग के नियंत्रण के लिए ओ.आर.एस. की उपयोगिता के लिए सामुदायिक जागरूकता बढाने के लिए आशा एवं ऑगनबाडी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा गृह भेंट कर ओ.आर.एस पहुचाना और उनके बनाने की विधि को प्रदर्शन करना। माता-पिता एवं परिजनों को शिशु एवं बाल आहार संबंधी समझाइस देना।
जन्मजात गतिविधियों की पहचान
नवजात की उचित देखभाल, कंगारू मदर केयर पद्धति संबंधी जागरूकता के लिये माताओं से चर्चा, तथा एस.एन.सी.यू. एवं एन.आर.सी. में भर्ती बच्चों को छुट्टी के पश्चात उनका फालोअप करना। बच्चों में दिखाई देने वाले जन्मजात गतिविधियों की पहचान करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *