गोपाल पुरुष्कार प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

विनोद लखेरा की भैंस ने पाया प्रथम पुरस्कार

(राजा चौधरी+91 95844 32211)
शहडोल। जिले के बुढार मे पशुपालन विभाग के द्वारा भारतीय उन्नत नस्ल के पशुओ के पालन को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से गोपाल पुरुष्कार योजना कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप मे जनपद पंचायत बुढार के अध्यक्ष ललन सिंह मौजूद रहे। साथ ही पशुपालन विभाग के उप संचालक शहडोल डॉक्टर जितेन्द्र सिंह भी सहित क्षेत्र के पशुपालन मे रुचि रखने वाले जागरुक लोग सहित प्रतियोगिता मे सामिल पशुपालक भी मौजूद रहे। कार्यक्रम बुढार पशु चिकित्सालय परिसर में आयोजित हुआ कार्यक्रम में 19 पशुपालकों ने भाग लिया।
ये हुए पुरूस्कृत
कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि जनपद अध्यक्ष ने पशुपालन से होने वाले लाभ व अन्य जानकारियों पर प्रकाश डाला, वहीं उपसंचालक ने पशुपालन विभाग की मौजूदा योजनाओं और पशुपालन के कार्य के बारे मे बताया बुढार पशुपालन विभाग के खण्ड अधिकारी डॉ. अशोक कुमार सिंह ने आयोजित कार्यक्रम की जानकारी के बारे मे बताया कि गोपाल पुरुष्कार योजना अंतर्गत आयोजित इस कार्यक्रम में खण्ड के आये हुए प्रतिभागियो मे भैस वंसीय प्रतिभागियों मे प्रथम पुरुष्कार वार्ड 12 बुढार निवासी विनोद लखेरा की भैंस को दिया गया। द्वितीय पुरस्कार कटकोनी निवासी सत्यनारायण मिश्रा की भैस को दिया गया, वहीं तृतीय पुरुष्कार जरवाही निवासी रोहणी यादव की भैस ने पाया।
गौवंशीय पशुओं के पालन को बढ़ावा
गौ वंसीय प्रतियोगिता मे प्रथम पुरुष्कार बकहो के अरुण कुमार की गाय ने पाया , द्वितीय पुरुष्कार बुढार के राजेश दुबे की गाय को मिला, वहीं तृतीय पुरुष्कार बुढार निवासी शिवांगी मिश्रा की गया ने प्राप्त किया। उन्होंने ने बताया कि भारतीय उन्नत नस्ल के गौवंशीय पशुओं के पालन को बढ़ावा देने एवं अधिक दुग्ध उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिये विभाग के द्वारा पुरस्कार योजना चलाई जा है। जिससे पशुपालकों को अतिरिक्त आय का साधन मिलेगा एवं भारतीय उन्नत नस्ल की गाय से उत्पन्न नर वत्स खेती के लिये उपलब्ध होंगे साथ ही दुग्ध उत्पादन में वृद्धि एवं भारतीय उन्नत नस्ल के गौवंशीय उत्पादक पशुओं की संख्या में वृद्धि होगी। यह प्रतियोगिता वर्ष में एक बार आयोजित की जाती है, इस योजना मे सभी वर्ग के पशु पालक जिनके पास भारतीय उन्नत नस्ल की गाय उपलब्ध हो भाग ले सकते हैं। इस योजना में प्रतिभागि पशुपालकों को विकास खंड स्तरीय पर 10000 प्रथम पुरस्कार के रूप में द्वितीय पुरस्कार के रूप मे 7500 रुपये तथा तृतीय पुरस्कार के रूप में 5000 से पुरुष्कृत किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *