ग्रामीणों ने शिक्षक के खिलाफ खोला मोर्चा

20 वर्षाे से एक ही स्थान पर हैं पदस्थ, कलेक्टर से हुई शिकायत

(शुभम तिवारी-8770354184)
शहडोल । जनपद शिक्षा केंद्र सोहागपुर अंतर्गत ग्राम पंचायत हर्रा टोला शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय में पदस्थ शिक्षक राजेंद्र प्रसाद शर्मा की गतिविधियों से स्कूल सहित पूरे ग्रामीण परेशान है, अब ग्रामीणों ने शिक्षक को गांव के स्कूल से हटाने की शिकायत कलेक्टर से की है। 10 जुलाई 19 को ग्राम पंचायत के सरपंच श्रीमती गुड्डी बैगा द्वारा कलेक्टर से शिकायत किया गया, जिस में उल्लेख किया गया है कि सहायक शिक्षक राजेंद्र प्रसाद शर्मा निवासी ग्राम हर्रा टोला शासकीय माध्यमिक शाला में विगत 20 वर्षों से पदस्थ हैं, जिन की गतिविधियां दिनोंदिन बदलती जा रही है।
मेरा भाई उपसरपंच है
शिकायत में उल्लेख किया गया कि शिक्षक के द्वारा ना तो समय पर स्कूल खोला जाता है और ना ही बच्चों की पढ़ाई पर रुचि ली जाती है, सरपंच ने आवेदन में उल्लेख किया है कि ग्राम हर्रा टोला आदिवासी बहुल गांव है, जहां पर शिक्षक शर्मा के द्वारा ग्रामीणों को डराते धमकाते रहते हैं और कहते हैं कि यदि मेरी शिकायत करोगे तो मेरा भाई उपसरपंच है, शिकायत करने वालों को शासकीय योजनओं के लाभ देने से मना करवा दूंगा और शिकायत के बाद भी तुम लोग मेरा कुछ बिगाड़ नहीं सकते। इतना ही नहीं शिकायत में यह भी उल्लेख किया गया है कि शिक्षक गांव के पिछड़े व अन्य लोगों के जमीन को धोखाधड़ी कर अपने नाम कर अवैध कब्जा करता है, जिसका कई प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है।
चुनाव के समय प्रचार-प्रसार
सरपंच ने कलेक्टर को दिए शिकायत में यह भी उल्लेख किया है कि सहायक शिक्षक राजेंद्र प्रसाद शर्मा गांव में आरएसएस के संगठन में जाने का दबाव बनाते हैं, वहीं चुनाव के समय भाजपा का प्रचार- प्रसार भी करते हैं। सरपंच ने यह भी उल्लेख किया है कि ग्राम पंचायत का चुनाव आते ही राजेंद्र शर्मा अपने परिवार के सदस्यों के लिए वोट मांगने का व गांव में परिवार के सदस्यों को जीत दिलाने का भी दबाव बनाते हैं।
सांठ-गांठ के आरोप
सरपंच गुड्डी बाई ने यह भी उल्लेख किया है कि राजेंद्र शर्मा की गतिविधियों को देखकर व गांव के बच्चों के भविष्य को देखते हुए श्री शर्मा के स्थानांतरण के लिए कई बार वरिष्ठ अधिकारियों को पत्राचार किया है पर सहायक आयुक्त आदिवासी विकास शहडोल में पदस्थ बाबुओं के साथ श्री शर्मा का सांठगांठ होने के कारण स्थानांतरण नहीं हो सका।
ग्रामीणों का समर्थन
ग्राम पंचायत में बीती 8 मार्च को पंचायत भवन कार्यालय में ग्राम सभा किया गया, जिसमें उपस्थित सदस्यों की संख्या 87 थी, प्रभु कोल सदस्य के द्वारा यह प्रस्ताव रखा गया कि शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला हर्रा टोला में पदस्थ शिक्षक का स्थानांतरण करने की बात कही गई, जिसमें सभी ग्रामीणों ने समर्थन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed