ग्राम पंचायत बसखली में बूंद-बूंद को तरसते है ग्रामीणः करोड़ों की नल जल योजना हुई 500 मीटर दूर से ला रहे पीने के लिए पानी

 

ऐसा ही चलता रहा तो ग्रामीण तालाब के पानी पीने के लिए मजबूर हो जाएंगे

 

 

अनूपपुर:-जनपद पंचायत कोतमा ग्राम पंचायत बसखली में ग्रामीण को भीषण गर्मी में पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं। गांव में नल जल योजना के तहत 90.25लाखों रुपए की लागत से पानी टंकी बनाया गया है। बावजूद इसके ग्रामीणों को सिर्फ आशा दिया जा रहा है, पानी नही दिया जा रहा है। गर्मी में लोग 500 मीटर दूर ठोड़ी से पीने का पानी ला रहे हैं।

अनुपपुर जिले के कोतमा जनपद ग्राम पंचायत बसखली गांव के ग्रामीण बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। 4 माह से पानी की भारी समस्या है पर सचिव, सरपंच ,रोजगार सहायक नहीं दे रहे ध्यान । वहीं गांव में लाखों की लागत से नल जल योजना कागजों में रफ्तार से दौड़ रही है। वहीं बसखली ग्राम में के 1600 आबादी वाले ग्राम पंचायत बसखली में कहने को तो नल जल के तहत हर घर मे पर्याप्त पानी मिल रहा लेकिन सच तो यह है कि बून्द बून्द पानी के लिए ग्रामीण तरस रहे हैं।

 

जिससे ग्रामीणो को पानी के लिए काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण पीने के पानी को तरस रहे हैं। गांव में ऐसी कोई सुविधा नहीं है, जिससे पानी की समस्या से लोगों को निजात मिल सके। इंसानों के साथ साथ मवेशियों को भी पीने का पानी नहीं मिल रहा। इस भीषण गर्मी में ग्रामीणों का गला बिन पानी के सुख रहा है

जब भी सचिव से इसकी जानकारी चाही गई तो 1 महीने से ट्रांसफॉर्मर की समस्या बार-बार बताया जा रहा है पर अभी तक ग्रामीणों के लिए पानी की कहीं सिलने व्यवस्था किया जा रहे हैं उच्च अधिकारी ध्यान दे रहे हैं एक बार रोजगार सहायक से इसकी जानकारी चाही गई थी तो उन्होंने कहा था 1 हफ्ते के अंदर पानी सभी ग्रामीणों को सुचारू रूप से मिलना शुरू हो जाएगा पर अभी तक ग्रामीणों को पानी नहीं मिल पा रहा है सरपंच को ग्रामीणों की समस्या से कोई मतलब सरपंच पहले अपना देखते हैं फिर ग्रामीणों का पानी की व्यवस्था सरपंच खुद शासकीय बोर अपनी बारी में करा दिए हैं,

    अशोक कुमार तिवारी सचिव ग्राम  पंचायत बसखली इनका कहना है कि मोटर बार-बार जल जाता था इसलिए इस बार बिजली विभाग में लिखित दिया गया है कि ट्रांसफॉर्मर को चेक किया जाए किस कारण से बार-बार मोटर जाल जा रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed