घण्टो इंतजार के बाद नही पँहुची 108@ लोगो ने जीप से पंहुचाया अस्पताल

( कमलेश कुमार मिश्रा +91 96446 20219)

बिजुरी। सरकार बदले करीब दो महीने हो गए लेकिन बिजरी में स्वास्थय सुविधा पूर्ण रूप से पंगु हो चुकी है।स्थानीय विधायक द्वारा भी बड़े ही धूमधाम से नगर को 108 सौंपी गई थी ,लेकिन एक एम्बुलेंस के भरोसे आखिर इतने बड़े क्षेत्र के लोगो को सुविधा मिल पाना असंभव है जिसे आम ब्यक्ति आसानी से समझ सकता है परंतु ये बात जनप्रतिनिधियों की समझ मे नही आती है,एक रिवाज से देखने को मिल रहा कि जनप्रतिनिधिय सिर्फ खाना पूर्ति करते नजर आ रहे। दिन के 2 बजे हनुमान मंदिर चौक के पास एक वृद्ध अचेत अवस्था मे पड़ा हुआ जो कि पहनावे से साधु के वेश भूषा में था अचानक बेहोश हो गया जिसकी सूचना स्थानीय लोगो द्वारा 108 को की गई परन्तु 1घन्टे तक 108 नही पँहुची तो स्थानीय ब्यापारियों एवम नगर के युवायों द्वारा बुजुर्ग को जीप के माध्यम से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया ।किसी तरह युवायों द्वारा मरीज को उतारकर अस्पताल पंहुचाया गया।डाक्टर द्वारा बताया गया कि बुजुर्ग को पैरालिसिस अटैक आया है ।जिसका प्राथमिक उपचार के बाद जिला चिकित्सालय रेफर किया जाएगा।
सरकार प्रदेशभर में लोगों को घरद्वार बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करने के हर रोज दावे करती है, लेकिन जब मरीज अस्पताल पहुंचता है तो उसे रेफर कर दिया जाता है या अस्पताल में सुविधाओं का अभाव होता है। ऐसे में मरीज जाए भी तो जाए कहां, ऐसा सवाल हर किसी के मन में कौंधता है। इससे ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपनी जान तक गंवा चुके हैं। हम बात कर रहे हैं जिले के के कोतमा विधान सभा बिजरी क्षेत्र की। यहां पर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं न मिलने से लोगों में आक्रोश बढ़ने लगा है। । दो दशक में प्रदेश में भले ही सड़क, शिक्षा और रोजगार में अभूतपूर्व प्रगति हुई हो, सरकारी अस्पतालों के अलावा बड़े-बड़े निजी अस्पतालों का जाल भी बिछा, लेकिन कोतमा विधानसभा का बिजरी हलका स्वास्थ्य क्षेत्र में अभी तक पिछड़ा हुआ है। इमरजेंसी में आने वाले मरीज स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में दम तोड़ रहे हैं। दो दशक में करीब सैकड़ो लोग समय पर स्वास्थ्य सुविधा न मिलने पर दम तोड़ चुके हैं।

करीबन डेड लाख लोगों की सेहत का जिम्मा संभालने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिजुरी में स्वास्थ्य सुविधाएं न के बराबर हैं। मात्र छह बिस्तर की क्षमता वाला यह अस्पताल करीब 72 गांवो को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करता है। पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिजुरी स्तरोन्नत कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने की घोषणा की गई थी जो पूरी नही हुई ,नई सरकार से लोगो को उम्मीद थी कि समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भले कुछ वक्त लगे लेकिन डाक्टर और स्टाफ बढ़ जाएगा परन्तु ऐसा कुछ नही हुआ। और आज भी यह अस्पताल आज बदहाली के दौर से गुजर रहा है।

सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों का कहना है कि कई बार ज्ञापनों और प्रतिनिधिमंडल के माध्यम से अवगत कराया पर आस्वाशन के शिवा कुछ न मिला।इससे दूरदराज गांवों के लोग स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में परेशान नहै।भाजपा के पूर्व मंडल उपाध्यक्ष सुनील यादव, विनोद यादव,यादव ,जावेद अख्तर,सतेंद्र सोनी,राहुल शुक्ला,अनुज अग्रवाल,शुभम केसरवानी द्वारा मानवता का परिचय दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *