चीतल के पांच आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

Ajay Namdev-7610528622

अनूपपुर। वनमंडल अनूपपुर अंतर्गत वन परिक्षेत्र जैतहरी के बीट ठेही के राजस्व क्षेत्र में 11 हजार के.व्ही. विद्युत लाइन से जी.आई. तार फैलाकर वन्यप्राणी चीतल का शिकार कर जलाने बाद मांस को बेचने के पांच आरोपियों को वन विभाग द्वारा सामग्री, मांस सहित गिरफ्तार किया जबकि 1 अन्य आरोपी मौके से फरार हो गया। वनपरिक्षेत्राधिकारी जैतहरी सुरेश बहादुर सिंह ने बताया कि गुरूवार की शाम 100 डॉयल पुलिस को मिली सूचना अनुसार मेरे नेतृत्व में वन कर्मचारियों का दल बीट ठेही के ग्राम ठेही निवासी चरन सिंह उर्फ मुन्ना पिता रामलाल सिंह गोड़ के घर में रखे वन्यप्राणी चीतल का कटा हुआ सिर, मांस घटना के समय उपयोग किया गया जीआईतार 32 नग लकड़ी की खूंटी 22 नग कांच की शीशी 2 नग लकड़ी की लुग्गी, लकड़ी का पाटा, लोहे का गड़ासा एवं 1 नग प्लास्टिक का टब बरमाद किया गया आरोपी चरन सिंह से पूछताछ दौरान उसने बताया कि घर के पास से निकली गौरेला से बैहार जाने वाली 11 हजार के.व्ही. विद्युत लाइन से लगभग डेढ़ सौ मीटर दूर जीआई तार खूंटी तथा शीशी के सहारे फैलाकर कटिया से बुधवार की रात अपने पुत्र पूरन सिंह, अमरलाल अगरिया, रामकृपाल सहीस के साथ बुधवार की रात जंगली जानवर चीतल जो खारी मिट्टी खाने आते है के शिकार के लिये लगाया गया जिसमें फलिया बाई गोड़ के खेत में करंट की चपेट में आकर चीतल फंसकर मर जाने पर उसे पड़ोस में रात के समय ही गर्दन काट के मांस भूनकर इक_ा करने के बाद अपने घर ले आया इस बीच कुछ मांस बांटकर अपने पड़ोसी देवलाल अगरिया एवं ग्राम गौरेला के संतोष नायक को बेचा हूं। आरोपी के कथन अनुसार पूरन सिंह अमरलाल अगरिया, देवलाल अगरिया एवं संतोष नायक को गिरफ्तार कर आरोपियों के विरूद्ध वन्यप्राण्ी अधिनियम 1972 की धारा 2.9.39(1) क,ख, 50 एवं 51 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया।
इनका रहा योगदान
इस कार्यवाही में 100 डॉयल पुलिस के साथ आर.एस. सिकरवार, प्रधान सहायक जैतहरी वन्यप्राणी प्रेमी व सर्प प्रहरी अनूपपुर शशिधर अग्रवाल शशिधर अग्रवाल, वनरक्षक ठेही पूरन सिंह मरावी, शोभनाथ राठौर वनपाल, पंकज सकतेल वनरक्षक, दीपक बैगा वनरक्षक, सतेन्द्र मिश्रा वनरक्षक, कुंदन कुमार शर्मा वनरक्षक की भूमिका अहम रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed