छात्रावासों को बनाएं आदर्श छात्रावास: कमिश्नर

अधीक्षक छात्रावास में रहना करें सुनिश्चित

(Amit Dubey-8818814739)
शहडोल। संभागायुक्त आर.बी. प्रजापति ने संभाग के सभी छात्रावासों, आवासीय परिसरों और आश्रम को आदर्श छात्रावास बनाने के निर्देश छात्रावास अधीक्षकों को दिए है। कमिश्नर ने सभी छात्रावास अधीक्षकों केा निर्देश दिए कि वे शासन के निर्देशानुसार छात्रावासी छात्रों को सभी प्रकार की शैक्षणिक सुविधाएं मुहैया कराएॅ। छात्रावासी छात्र-छात्राओं की छात्रावासों और स्कूलों में सतत उपस्थिति सुनिश्चित कराएं और छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दें। कमिश्नर ने निर्देंश दिए है कि छात्रावास अधीक्षकों का फोकस छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिलाने पर होना चाहिए। कमिश्नर श्री प्रजापति ने उक्त निर्देश छात्रावास अधीक्षकों की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक में दिए।
ठीक नहीं छात्रावासों की स्थिति
बैठक में कमिश्नर ने कहा कि उनके द्वारा संभाग के स्कूलों, छात्रावासों, का निरतंर आकस्मिक निरीक्षण किया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान स्कूलों और छात्रावासो की स्थिति ठीक नहीं मिल रही है। स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति संतोषप्रद नहीं है। कमिश्नर ने निर्देश दिए कि संभाग की सभी शालाओं और छात्रावासों में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति बढ़ाई जाए तथा उन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देकर योग्य और काबिल बनाएॅ। कमिश्नर ने माध्यमिक शाला विचारपुर के निरीक्षण के दौरान स्कूल की स्थिति के संबंध में बताया कि स्कूल में 18 छात्र-छात्राए उपस्थित पाए गए, जबकि स्कूल में 56 विद्यार्थी दर्ज है, शिक्षिकाएं शिक्षण का कार्य नही कर रही थी।
नियमानुसार हो सामग्री का क्रय
स्कूल के छात्र-छात्राओं से प्रश्न पूछने पर उन्हें कुछ भी नहीं आ रहा था, कमिश्नर ने कहा कि यह स्थिति बहुत ही खेदजनक है। उन्होंने कहा कि स्कूल के छात्र-छात्राओं को बेहतर से बेहतर शिक्षा मिलनी चाहिए। कमिश्नर ने निर्देश दिए कि छात्रावास अधीक्षक वित्तीय नियमों का पालन करते हुए छात्रावासों के लिए सामग्री क्रय करे। सक्षम अधिकारी से अनुमोदन लेने के बाद ही सामग्री का क्रय नियमानुसार करें, छात्रावासों के दस्तावेजों का संधारण भी ठीक से करें। बैठक में कमिश्नर ने रमसा द्वारा संचालित छात्रावासों की स्थिति में भी सुधार करने के निर्देश दिए।
इनकी रही उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त आदिवासी कल्याण विभाग जगदीश सरवटे, अनुसूचित जाति, जनजाति कल्याण विभाग द्वारा संचालित छात्रावासों के अधीक्षक, एकलव्य स्कूलों, ज्ञानोदय विद्यालयों गुरूकुल एवं रमसा द्वारा संचालित छात्रावासों के अधीक्षक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed