छात्र को अगवा कर की नृसंश हत्या

मुरैना । डोंडरी निवासी जितेंद्र सिंह गुर्जर का इकलौता बेटा अंशुल सेना में भर्ती के लिए रोज सुबह 4 बजे दौड़ लगाने जाता था।17 नवंबर रविवार की सुबह 4 बजे अंशुल के मोबाइल पर कॉल आया कि योगेंद्र सर (रिटायर्ड फौजी जो सेना भर्ती की तैयारी कराते हैं) दौड़ने के लिए बुला रहे हैं। अंशुल तड़के ही घर से निकल गया और शाम तक नहीं लौटा। सोमवार को अंशुल के पिता ने उसकी गुमशुदगी नगरा थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने जब जांच-पड़ताल की तो अंशुल का शव शाम को तांत्रिक भीमसिंह जोशी के ट्यूबवेल के पास स्थित बाजरा की करब के नीचे दबा मिला। उसका गला घोंटकर हत्या की गई।
जिले के डोंडरी गांव (पोरसा) के 9वीं के छात्र अंशुल गुर्जर (14) की अगवा कर हत्या कर दी गई। आरोपियों ने उसकी एक आंख फोड़ दी और एक कान भी काट दिया। परिजन का आरोप है कि गांव के तांत्रिक भीमसिंह जोशी ने बच्चे की नरबलि चढ़ाई है। वहीं एसपी डॉ. असित यादव का कहना है कि हत्या फिरौती के लिए की गई है। पुलिस ने परिजन के संदेह पर तांत्रिक सहित उसके नाबालिग बेटे व मृतक के 2 नाबालिग दोस्तों को हिरासत में लिया है।
6 साल से कर रहा झाड़-फूंक संदेहियों से कर रहे हैं पूछताछ
तांत्रिक छह साल से गांव के बीजासेन माता मंदिर पर झाड़-फूंक के नाम पर निरूसंतान दंपतियों व भूत-बाधा का इलाज करने के दावा करता था। चार महीने पहले ही लोगों ने उसे गांव से भगा दिया था। इसके बाद वह अपने खेत पर बने ट्यूबवेल पर ही तंत्र-मंत्र व झाड़-फूंक करता था।मामला बिगड़ने पर उसकी हत्या कर दी। छात्र को फिरौती वसूलने के लिए अगवा किया था। तांत्रिक व तीन नाबालिग लड़कों से पूछताछ की जा रही है।

-डॉ. असित यादव, एसपी, मुरैना