जमुना की गलियों में चल रहा पैकारी का कारोबार

शराब दुकान बनी समस्या की दुकान
ज्ञापन सौपकर जताया विरोध, जल्द स्थानांतरण करने की मांग

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। कई वर्षो से जमुना कॉलरी व भालूमाडा के गलियों में अवैध शराब की पैकारी खुलेआम की जा रही है और भालूमाडा पुलिस को इसकी जानकारी होने के बाद भी कार्यवाही नहीं की जाती है जिससे साफ पता चलता है कि भालूमाडा पुलिस ने अवैध शराब की पैकारी चलाने वाले को खुला संरक्षण दिया गया है। सोमवार को जिला आबकारी अधिकारी व पुलिस अधीक्षक के नाम कुछ लोगों ने शिकायत पत्र देकर बताया कि जमुना कॉलरी में शीतला मंदिर के सामने अंग्रेजी शराब की दुकान संचालित की जा रही है जिससे मंदिर में आने जाने वाली महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया जाता है एवं गाली-गलौज की जाती है।
पैकारी के ठिकाने
अवैध तरीके से जमुना शासकीय सेकेण्डरी विद्यालय के पास और भालूमाडा लाइन दफाई में, भालूमाडा पीली दफाई में, भालूमाडा हनुमान दफाई शासकीय विद्यालय के पास अंग्रेजी शराब की पैकारी की जाती है। वहां के निवासियों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पडता है एवं विद्यार्थियों पर गलत प्रभाव पडता है। पुलिस प्रशासन भालूमाडा को कई बार अवगत करवाया गया परंतु कोई कार्यवाही नहीं हुई।
इन्होंने सौपा ज्ञापन
ज्ञापन सौपने वालो में महिला संगठन जमुना कोतमा अकबरी बेगम, प्रदेश युवा संगठन पंकज पाण्डेय, बजरंगी सेवा राजा शर्मा, रिंकू तिवारी, हिन्दु युवा वायनी अरविन्द गुप्ता अनूपपुर व अन्य लोगों ने 10 दिनों के भीतर अंग्रेजी शराब की दुकान जमुना कॉलरी को स्थानांतरित करवाने एवं अवैध तरीके से अंग्रेजी शराब की पैकारी की जाती है उसे बंद करवाने की मांग की है, मांग पूरी न होने पर प्रदेश युवा सेना उग्र प्रदर्शन करने को बाध्य होगी।


जैतहरी में अवैध कारोबार
अवैध शराब बिक्री के काले कारोबार को रोकने के लिये आबकारी व पुलिस विभाग का अमला जिले से लेकर जैतहरी थाना मे भी तैनात है फिर भी जैतहरी नगर सहित आस पास के दर्जनो गॉवो मे पैकारी के माध्यम से अवैध शराब की बिक्री अंधाधुंध हो रही है जो नगर सहित ग्रामीण क्षेत्र के लिये सामाजिक दृष्टिकोण से किसी तबाही से कम नही है । सवाल उठता है कि आखिर जैतहरी के शराब ठेकेदार को किसका संरक्षण मिला है, पुलिस का, आबकारी अमला का या किसी सफेदपोश राजनीतिक आकाओं का। अवैध शराब धड़ल्ले से रोज सुबह से लेकर रातभर बिकता है, कई होटल भी अवैध तरीके से पहले शराब फिर दाल रोटी खिलाने पिलाने की सेवा प्रदान कर रहे है जब नगर की हालत यह है तो गांवो की तो बात ही करना बेकार है फिर भी बताना बेहतर होगा और सच्चाई यह है कि पैकारी सिस्टम से धनगवा, खूटाटोला, लपटा, चोलना, वेकटनगर, चॉदपुर, महुदा, मुर्रा, खोलाड़ी, गौरेला, आदर्शग्राम सिवनी आदि गावों में शराब की बिक्री हो रही है।
आबकारी पुलिस बना तमाशबीन
शराब माफियाओं का साम्राज्य नगर के कोने कोने से लेकर गांव के गलियों तक फैला पडा है हर जगह देशी व विदेशी ठेका दुकान का शराब बिना भय के परोसा जा रहा है, जिस पर आबकारी पुलिस की कार्यवाही मयस्सर नही हो सका है। बिजुरी नगर मे लगभग 25 ढाबो मे दिन रात सरेआम शराब बैठ कर पीने की ब्यवस्था है जो आधी रात तक खुली रहती है जिनको किसी का भय नही। इन अडडो पर आये दिन मारपीट होती रहती है लेकिन इनपर अंकुश लगाने के जिम्मेदार किसी बडी घटना का इुंतजार कर रहे है । गौरतलब है कि बिजुरी थाना क्षेत्र में शासन के अनुरूप लायसेंसी शराब के देशी विदेषी की दुकाने हैं जॅहा से पियागियों को शराब लेने की छूट है बावजूद नगर के प्रमुख चौराहों कालोनियों में व ग्रामीण क्षेत्रों के सभी पंचायतों में शराब का दुकान आसानी से उपलब्ध हैं आखिर इन दुकानों का संचालन खुले तौर पर किसके इशारे पर किया जाता है।
आदी हो रहे नौजवान
गली मोहल्ले में शराब की दुकान होने से व उधारी शराब मिलने से नगर के युवाओं में शराब पीने की आदत लत पकडती जा रही है आज का नौजवान मदहोश हो शराब के लिए गंभीर वारदात अपराध की ओर बढ रहा है साथ ही ब्याजखोरी व ठगी का शिकार हो रहा है यदि यही आलम रहा तो शराब माफिया कथित ठेकेदार व सरंक्षक विभाग के मुखियाा तो मालामाल नजर आयेंगे लेकिन नगर का नौजवान आत्मघाती कदम उठाने पर विवश होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *