जिम्मेदार किराये पर चला रहे शहर!

यातायात व्यवस्था भी हुई चौपट

(Anil Tiwari+91 88274 79966)
शहडोल। पूरे प्रदेश में अतिक्रमण को लेकर मुहीम छिड़ी हुई है, कलेक्टर ने जिले के सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिए है, कलेक्टर ने कहा है कि अतिक्रमण हटाने के मामले में किसी प्रकार की उदासीनता व लापरवाही बर्दास्त नही की जायेगी। खबर है कि निर्देशों के बावजूद इसके संभागीय मुख्यालय की नपा के जिम्मेदारों ने 1000-500 रूपये में सड़क के किनारे गुमटी लगाने के लिए पूरे शहर को ही भाड़े पर उठाने का ठेका ले लिया है। इसका जीता-जागता सबूत नगर पालिका के बगल से दुर्गा मंदिर जाने वाले रास्ते पर देखा जा सकता है, जहां ठेलों के चलते चौड़ी सड़क सिकुड़ती जा रही है, बावजूद इसके बगल में बैठे नपा के जिम्मेदार इस ओर से आंखे मूंदे हुए हैं।
आये दिन होता विवाद
पूरे शहर में अतिक्रमण के ये हाल है कि जहां देखों वहां हाथ ठेला नजर आ रहा है। रोड किनारे तक तो ये ठेले ठीक है, मजे की बात तो यह है कि अब फुटपाथ पर भी ठेले लगे हुए हैं। सबसे ज्यादा खराब स्थिति नगर पालिका से लेकर जिला चिकित्सालय तक की है। कुछ स्थानों पर तो पूरी की पूरी दुकान सजा ली गई है। नपा क्षेत्र के अंदर प्रतिदिन सैकड़ों दो-पहिया, चार-पहिया वाहन दौड़ते हंै। नगर में जगह-जगह अतिक्रमण हो चुका है, छोटे लोडिंग वाहन, ठेलों से दुकानों पर हो रही लोडिंग, अनलोडिंग, दुकानों के सामने वाहनों की बेतरतीब पार्किंग से जाम लग रहा है। यहां पार्किंग को लेकर दुकानदारों और वाहन चालकों के बीच विवाद होना भी आम बात हो गई है।
लचर यातायात व्यवस्था
संभागीय मुख्यालय की बिगड़ी यातायात व्यवस्था को लेकर न तो प्रशासन जागरूक दिख रहा है, न ही यातायात विभाग इस ओर कोई कदम उठा रहा है। बेतरतीब पार्किंग, सड़कों पर हो रहे अतिक्रमण ने यातायात व्यवस्था को बेहाल कर दिया है। प्रतिबंधित मार्गों पर भी बेरोकटोक चार पहिया वाहन प्रवेश कर रहे हैं। दिन में सड़क किनारे हो रही लोडिंग-अनलोडिंग भी यातायात व्यवस्था को बिगाडऩ़े में महत्वपूर्ण साबित हो रही है। मार्गों पर बेरिकेट्स तो लगा दिए गए, लेकिन उनका अनुशरण करता कोई नहीं दिख रहा है। शहर की लचर यातायात व्यवस्था से हर कोई परेशान नजर आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed