ठगी करने की जुगत में बैंक कैसियर

उपभोक्ता के खाते से निकाले 5 हजार

(नारद+9826550631)
अनूपपुर। जिले के पुष्पराजगढ़ जनपद की करपा पंचायत में भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में धोखाधड़ी की शिकायत शाखा प्रबंधक से केशव नायक पिता मोती नायक निवासी मेढ़ाखार थाना करनपठार ने मंगलवार को की है। केशव नायक ने शिकायत में उल्लेख किया है कि मंगलवार को लगभग दोपहर 3 बजे खाता क्रमांक 36723928395 से आहरण पर्ची द्वारा राशि 9000 रूपये निकासी किया गया था, खाता धारक का मोबाइल नंबर 9407889215 में मैसेज आया कि खाते से 9000 रुपए निकल गए और खाताधारक केशव नायक संतुष्ट हो गए। किन्तु शाम 4 बजकर 13 मिनिट पर पुन: मैसेज आया कि उक्त खाते से 5000 रूपए निकासी हो गया है। जबकि खाता धारक उक्त खाता से केवल 9000 रुपए ही निकासी किया गया था। लेकिन 5000 रुपए कैशियर द्वारा निकाला गया जबकि खाता धारक केशव नायक द्वारा 9000 रुपए के अतिरिक्त कोई भी राशि नहीं निकाला गया।
तुरंत जमा कराये रूपये
केशव नायक ने शिकायत में उल्लेख किया कि जब पुन: 4:30 बजे कैशियर के पास गया, लेकिन कैशियर ने सर्वर डाउन का हवाला देकर खाता धारक को बाद में बताने को कहा। इसके बाद विमल नायक, पूरन नायक, रवि नायक, जेशा नायक आदि लोगो के साथ खाता धारक पुन: गया तो खाता धारक को स्टेटमेंट दिया गया तथा 5000 रुपए तुरंत कैशियर द्वारा जमा कर दिया गया। वहीं अभी तक इस मामले की शिकायत के बाद भी शाखा प्रबंधक ने कैसियर पर क्या कार्यवाही की, यह समझ से परे है।
कटघरे में अधिकारी
पूर्व में भारतीय स्टेट बैंक के कर्मचारियों ने खाताधारको के साथ अभद्रता का व्यवहार किसी से छुपा नहीं है, अब जिले की पुष्पराजगढ़ तहसील के करपा ग्राम पंचायत में खुली एसबीआई के कर्मचारियों ने उपभोक्ताओं को लूटने की तैयारी भी कर ली है, क्षेत्र में एसबीआई शाखा में पदस्थ कर्मचारी ने ग्राहकों के खाते में से पैसे निकालकर बैंक को वैसे ही बदनाम कर दिया है। मजे की बात तो यह है कि शाखा में बैठे जिम्मेदार सहित बैंक की विश्वसनियता पर भी प्रश्न चिन्ह लग गया है, लोगों का कहना है कि ऐसा भी हो सकता है कि कथित कैसियर ने अनपढ़ आदिवासी क्षेत्र के लोगों के साथ पूर्व में भी ऐसी घटना को अंजाम दिया हो, वहीं साहब द्वारा अब तक कार्यवाही न करना उनकी कार्य प्रणाली को भी कटघरे में खड़ा कर रहा है।

1 thought on “ठगी करने की जुगत में बैंक कैसियर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *