ठेकेदार खनिज उत्खनन प्रक्रिया एवं नियमों का करें पालन: कमिश्नर

परिहवन एवं उत्खनन में लगे बड़े वाहनों एवं मशीनों को राजसात करने के निर्देश

शहडोल। कमिश्नर शोभित जैन ने संभाग के सभी रेत ठेकेदारों एवं रेत के परिवहन से जुड़े ठेकेदारों से कहा है कि वे रेत के खनन और परिवहन करते समय शासन द्वारा निर्धारित खनिज उत्खनन प्रक्रिया एवं नियमों का अक्षरश: पालन करें। कमिश्नर ने कहा है कि सभी रेत ठेकेदार अनुबंध के अनुरूप चिन्ह्ति और सीमांकित क्षेत्रों में रेत का उत्खनन करें। कमिश्नर ने कहा है कि रेत और अन्य खनिजों के अवैध उत्खनन और परिवहन करना पाये जाने पर संबंधित वाहनों को राजसात किया जायेगा तथा खनिज का अवैध परिहवन और उत्खनन करने वाले लोगों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।
गड़बड़ी नहीं होगी बर्दाश्त
कमिश्नर ने संभाग के रेत के ठेकेदारों और खनिज के उत्खनन और परिवहन से जुड़े लोगों से कहा है कि वे खनिज विभाग द्वारा अनुबंध की शर्तों के अनुरूप भी खनिज का उत्खनन और परिवहन करें। कमिश्नर ने कहा है कि भविष्य में किसी प्रकार का उल्लंघन नहीं होना चाहिये। खनिज के अवैध उत्खनन एवं परिवहन में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जायेगी। खनिज के अवैध उत्खनन और परिवहन करना पाये जाने पर संबंधितों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। कमिश्नर ने कहा है कि प्रशासन को संभाग की सभी नदियों की चिंता है, नदियों का स्वरूप कायम रहना चाहिये। संभाग की सभी नदियों की चिंता संभाग के लोगों को भी होना चाहिये। कमिश्नर ने कहा कि नदियों के संरक्षण और संवर्धन के लिये सभी के समन्वित प्रयास आवश्यक है। कमिश्नर श्री जैन कमिश्नर कार्यालय में रेत खदानों के ठेकेदारों एवं खनिज विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे।
राजसात होंगे वाहन
कमिश्नर ने शोभित जैन कहा कि खनिज विभाग के नियमों के अनुसार रेत के परिवहन में बड़े वाहनों का उपयोग प्रतिबंधित है, वहीं रेत के उत्खनन में जेसीबी मशीनों और अन्य मशीनों का उपयोग भी प्रतिबंधित हैैै, कमिश्नर ने कहा कि इसके बावजूद नदियों में जेसीबी मशीनों का उपयोग किया जा रहा है, वहीं हाईवा जैसे बड़े वाहनों का उपयोग किया जा रहा है। कमिश्नर ने सभी खनिज अधिकारियों को निर्देश दिये कि रेत के उत्खनन और परिवहन में बड़ी मशीनों का उपयोग तत्काल प्रतिबंधित किया जाये तथा हाईवा जैसे बड़े वाहनों के उपयोग को तत्काल प्रतिबंधित किया जाये। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि नदियों में बड़े वाहन एवं जेसीबी मशीनें रेत उत्खनन और परिवहन के कार्य में लगे पाये जाने पर ऐसे वाहनों और मशीनों को राजसात करने की कार्यवाही सुनिश्चित करें।
स्वयं के खर्चे पर कराये वृक्षारोपण
कमिश्नर ने यह भी निर्देश दिये हैं कि रेत खदानों में ठेकेदार मानव श्रम का उपयोग करें तथा श्रमिकों के लिये खदान स्थलों में छायादार स्थान, स्वच्छ पेयजल, फस्टएड बॉक्स एवं अन्य सुविधायें भी मुहैया करायें। कमिश्नर ने कहा कि खनिज नीति के अनुसार रेत के ठेकेदारों को रेत खदानों में नदियों के किनारे स्वयं के खर्चे पर वृक्षारोपण कराना आवश्यक होता है। कमिश्नर ने कहा कि सभी रेत ठेकेदार वर्षाकाल में नदियों के किनारे समुचित पौधरोपण करायें तथा पौधे जीवित नहीं रहने पर पुन: पौधरोपण करायें और उनकी उचित देखभाल करें।
सीएसआर मद का करें सदुपयोग
बैठक में कमिश्नर ने रेत ठेकेदारों द्वारा सीएसआर मद से कराये गये कार्यों के संबंध में जानकारी ली गई। कई ठेकेदारों द्वारा इस मद के संबंध में अनभिज्ञता प्रकट करने पर कमिश्नर ने बताया कि खनिज नीति के अनुसार रेत खदानों के ठेकेदारों द्वारा रेत खदान जिन ग्राम पंचायतों में है, वहां के लोगों के लिये सीएसआर मद से विभिन्न कल्याणकारी काम कराये जाते हैं। उन्होनें कहा कि सीएसआर मद का सदुपयोग होना चाहिये। कमिश्नर ने संभाग के सभी खनिज अधिकारियों को निर्देश दिये कि सीएसआर मद से अभी तक कौन से कार्य कराये गये है, इसके संबंध में समुचित ब्यौरा प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। कमिश्नर ने यह भी निर्देश दिये किसंभाग में वाहनो के द्वारा रेत के परिवहन के दौरान रेत को ढकने की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होनें कहा कि रेत के परिवहन के दौरान किसी प्रकार का प्रदूषण फैलना नहीं चाहिये।
ये रहे मौजूद
बैठक में उपायुक्त राजस्व दिलीप पाण्डेय, खनिज अधिकारी शहडोल सुश्री फरहत जहां, प्रभारी खनिज अधिकारी अनूपपुर राहुल शांडिल्य, सहायक खनिज अधिकारी उमरिया राम सिंह उइके, खनिज निरीक्षक शहडोल सुरेश कुलस्ते, अंकिता भल्लावी, खनिज निरीक्षक अनूपपुर ईशा वर्मा, खनिज सर्वेयर उमरिया एन.एस. आर्मा उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *