तिपान नदी में फंसे युवकों को टीम ने सफलतापूर्वक निकाला

एसडीआरएफ, नगरसेना, कोतवाली पुलिस और यातायात ने संभाली कमान
अनूपपुर। जैतहरी रोड स्थित तुलसी के पास पुल के समीप तिपान नदी में शांतिनगर के दो व्यक्तियों की बाढ में फंसे होने की खबर सुबह मिलते ही एसडीआरएफ, नगरसेना, होमगार्ड, कोतवाली पुलिस और यातायात पुलिस, नगर पालिका स्टाफ ने पहुंच कर काफी मशक्कत के बाद दोनो को निकालने में कामयाबी पाई है। लगभग 4 घंटे चले रेस्क्यू के बाद दोनो को निकालने में टीम सफलता पाई।
रेस्क्यू टीम और कोतवाली पुलिस बने सहारा


सुबह लगभग 6 बजे के आसपास शांति नगर के दो ग्रामीण मछली मारने के लिए नदी गये हुए थे, जहां पानी की मात्रा कम होने की वजह से बीच टापू में जाकर मछली पकड रहे थे, अचानक बारिश होने के साथ बाढ ही आ गई और दोनो टापू में ही फंसे रहे गये, जिसकी जानकारी ग्रामीणों ने दी, जिसके बाद एसडीआरएफ प्लाटून कमांडर, वीरेन्द्र कुमार मिश्रा, राम नरेश भवेदी हवलदार वीरेन्द्र सिंह, नायक मुन्ना लाल बालेन्द्र कुमार, भगेन्द्र सिंह, भूपेन्द्र सिंह, धन सिंह, जीतेेन्द्र कुमार पांडेय, रामानुज कोल के साथ अन्य सहयोगी जुटे रहे। वहीं कोतवाली पुलिस सुबह से ही जाकर मदद करने में जी-जान लगाकर टीम का सहारा बनी रही, जिनमें से एएसआई सुरेश अहिरवार, विनोद पटेल, सुरेश रावत, विजय सिंह आदि रहे।
यातायात व्यवस्था में चौकन्नी रही यातायात पुलिस


रेस्क्यू टीम व बीच नदी के टापू में फंसे दो व्यक्तियों को देखने के लिए स्थानीय लोगों के साथ राहगीर भी काफी संख्या में मौजूद रहे, लोग सकडों पर ही गाडियों का खडा कर यातायात व्यवस्था को बाधित करते रहे, जैसे ही इसकी जानकारी यातायात प्रभारी एस.के. यादव को लगी तत्काल दल-बल सहित पहुंच कर यातायात व्यवस्था को दुरूस्त कराया, जिसके बाद यातायात सुचारू रूप से संचालित होने लगी, यातायात टीम में शामिल संजय श्रीवास, प्रदीप पांडेय, उमेश सिंह, बुधराम, राजेश बंशल सहित अन्य स्टाफ मौजूद रहे।
यह फंसे रहे नदी में


सर्प प्रहरी एवं वन्य प्राणी संरक्षक शशिधर अग्रवाल सुबह से ही पहुंच कर टीम के साथ मदद मे जुटे रहे, उन्होने बताया कि सुबह मछली मारने गये मलीलाल पिता मोहरा दास पनिका उम्र 60 वर्ष निवासी वार्ड नंबर-10 शांतिनगर एवं राजेश पिता मझलू सिंह गोड उम्र 32 वर्ष निवासी अगरियानार तिपान नदी में फंसे हुए थे, जिसकी सूचना मिलने के बाद टीम पहुंच कर उन्हे निकालने में मशक्कत करती रही और कई घंटो की रेस्क्यू के बाद दोनो को निकालने में सफलता प्राप्त की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *