तीन महीने में हुई आठ चैन स्नैचिंग की घटना, बाईक से देते थे वारदात को अंजाम

Ajay Namdev-7610528622

महिलाओं से चैन स्नेचिंग के मामले में पुलिस को मिली सफलता

जिले में महिलाओं के साथ लगातार हो रहे चैन स्नैंचिंग के मामले में कोतमा पुलिस को बडी सफलता प्राप्त हुई है। जिले अंतर्गत तीन महीने में चार थानों से चैन स्नैंचिंग के आठ मामले सामने आये जहां चोरों द्वारा महिला को अकेला जाता देख उसे रोककर पूरी घटना को अंजाम देते थे। बीते दिनों कोतमा पुलिस को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई और पुलिस ने देरी न करते हुये चोरों को धर दबोचा।

अनूपपुर। कोतमा अनुविभाग अंतर्गत थाना भालूमाडा, बिजुरी, कोतमा, रामनगर क्षेत्र में विगत 3 महीनें से समय-समय पर लगातार महिलाओं से चैन स्नेचिंग की घटनायें हो रही थी। वर्ष 2019 में चैन स्नैचिंग की पहली घटना थाना भालूमाडा अंतर्गत 30 अपै्रल को हुई जिसमें रात के समय न्यू डबल स्टेारी जमुना के पास से महिला की चैन अज्ञात बदमाशो द्वारा सोनें की चैन लूट ली गई, उसके पश्चात थाना भालूमाडा क्षेत्र में ही 3 मई को आम रोड भालूमाडा से फिर 4 मई को सिविल लाईन रोड भालूमाडा से और 20 जुलाई को एसईसीएल अस्पताल के सामने जमुना से अज्ञात बदमाशों द्वारा चैन लूट ली गई।
यह था मामला पंजीबद्ध
जानकारी अनुसार थाना भालूमाडा में अपराध क्रमांक 187/19 धारा 392 ताहि, अपराध क्रमांक190/19 धारा 392/34 ताहि, अपराध क्रमांक191/19 धारा 392/34 ताहि व अपराध क्रमांक 292/19 धारा 392 ताहि के अपराध पंजीबद्ध है। इसी प्रकार थाना कोतमा क्षेत्र में 19 जुलाई को ब्लॉक कालोनी कोतमा के पास सेे व 22 जुलाई को गोविन्दा कालोनी में अज्ञात बदमाशों द्वारा चैन छीन ली गई जिसमें कोतमा मं अपराध क्रमांक 310/19 धारा 392ताहि व अपराध क्रमांक 305/19 धारा 356/379/34/392 ताहि के अपराध पंजीबद्ध है।
चैन स्नैचिंग से परेशान थे लोग
इसी प्रकार रामनगर क्षेत्र में 22 जुलाई को डोला से अज्ञात बदमाशों द्वारा महिला के गलें से चैन छीन ली गई जिसमें अपराध क्रमांक 88/19 धारा 392 ताहि का कायम अपराध पंजीबद्ध है। इसी प्रकार थाना बिजुरी क्षेत्र में 9 जुलाई को माईनस कालोनी बिजुरी से महिला के गले से छीन ली गई जिसमें अपराध क्रमांक 195/19 धारा 382 के तहत अपराध पंजीबद्ध है।
इस प्रकार कोतमा अनुविभाग में 3 महीने में लगातार 8 चैन स्नैचिंग की घटनायें हो गई जिससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगने लगा, महिलायें व आम लोग इन घटनाओं से आक्रोशित थे, लगातार पतारसी के बाद व पुलिस व्यवस्था लगाने के बाद भी ऐसी घटनाए नहीं रूक रही थी।
मुखबिर से मिली सूचना
इस पर पुलिस अधीक्षक अनूपपुर व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा उक्त घटनाओं को रोकनें व आरोपियों की पतारसी हेतु व लूटी गई चैन की बरामदी हेतु सख्ती से निर्देशित किया गया। जिसके पालन में एसडीओपी कोतमा के निर्देशन में पुलिस बल द्वारा लगातार निगरानी की जाकर सूझबूझ से व सूचना तंत्र लगाकर लूट की घटनाओं की पतारसी हेतु हरसंभव प्रयास शुरू किये गये व इस हेतु टीम की गठन किया गया। इसी दौरान मुखबिरों द्वारा व लहसुई क्षेत्र के लोगों द्वारा घटना के संबंध में व आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई, जिसके आधार पर कोतमा पुलिस द्वारा पूर्व में चोरी के कई अपराधों में गिरफ्तार किये गये संदेही मंजा उर्फ समशुद्दीन पिता इस्लामुद्दीन उम्र 23 वर्ष निवासी लहसुई वार्ड क्रमांक 15 को काफी प्रयासों के बाद हिरासत में लेकर पूछताछ की गई जिसनें काफी पूछताछ के बाद चैन स्नेंचिंग की घटनाओं को स्वीकार किया। संदेही मंजा द्वारा बताया गया कि वह तथा उसके साथी अफसर उर्फ मो. सादिक पिता खलील बक्स उम्र 21 वर्ष निवासी नं.2 दफाई भालूमाडा व आकिब पिता अब्दुल रसीद उर्फ छेही निवासी लहसुई के द्वारा उक्त सभी घटनायें कारित की गई है।
आरोपी आकिब अब भी फरार
आरोपी मंजा उर्फ समशुद्दीन व आरोपी आकिब द्वारा कुल 6 घटनायें थाना कोतमा, बिजुरी, भालूमाडा क्षेत्र में कारित की गई है, व आरोपी मंजा व आरोपी अफसर द्वारा कुल 2 घटनायें थाना कोतमा व रामनगर क्षेत्र में कारित की गई है। प्रकरण में आरोपी अफसर उर्फ मो. सादिक को भी गिरफ्तार किया गया है, साथ ही प्रकरण में अभी एक अन्य आरोपी आकिब पिता अब्दुल रसीद फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। प्रकरण में चोरी के माल खरीदनें के आरोप में आरोपी मो. सैफ अली पिता अब्दुल गफूर उम्र 25 वर्ष निवासी वार्ड नं. 15 लहसुई गांव व कैलाश सोनी पिता श्यामलाल सोनी उम्र 56 साल निवासी वार्ड नं. 3 कोतमा को भी गिरफ्तार किया गया है।
आरोपियों के कब्जे से सामान बरामद
प्रकरण सभी आरोपियों के कब्जे से कुल 7 सोने की चैन करीब 100 ग्राम जिसमें 2 टूटी हुई चैन भी शामिल है, कीमत करीबन 3 लाख 50 हजार रूपये का जप्त किया गया है, साथ ही घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल क्रमांक सीजी 10 एसी 3296 पैशन प्रो काले रंग की कीमत करीबन 50 हजार रूपये को भी जप्त किया गया है। प्रकरण में अभी एक आरोपी फरार है जिससे शेष 1 चैन व अन्य मशरूका जप्त किया जाना है, प्रकरण में गिरफ्तार सभी आरोपियों को 30 जुलाई को न्यायालय पेश किया जा रहा है।
पूर्व में भी की गई थी चोरी
इसी प्रकार इस्तगाशा क्रमांक 3/19 धारा 41(1-4), 379 ताहि में आरोपी मंजा उर्फ समशुद्दीन व सैफ अली के कब्जे से पूर्व में उसके द्वारा चोरी किये गये 3 लैपटॉप एचपी कंपनी, लेनेवों व एसर कंपनी के व एक डेवसटाप फिलिप्स कंपनी का कीमत करीब 1 लाख रूपये को जप्त किया गया जिसके संबंध में जांच की जा रही है। जिसमें दो लैपटॉप थाना अमलाई जिला शहडोल से आरोपियों के द्वारा चोरी किया जाना बताया है। इस प्रकार कोतमा पुलिस द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के सतत मार्गदर्शन में कुल 5 लाख रूपये का जप्त किया गया।
इनका रहा योगदान
उक्त कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक अनूपपुर व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के कुशल व लगातार दिये गये मार्गदर्शन व एसडीओपी कोतमा की सतत निगरानी व निर्देश पर थाना प्रभारी कोतमा निरीक्षक आर.के. वैश्य के नेतृत्व में उपनिरीक्षक उपेन्द्र त्रिपाठी, उपनिरीक्षक विवेक द्विवेदी, सउनि अरविन्द दुबे, प्रधान आरक्षक रावेन्द्र तिवारी, अमित घारू, आरक्षक कृपाल सिंह, देवेन्द्र तिवारी, शिवकुमार द्वारा सतत व सूझबूझ से कार्यवाही पर उक्त सफलता प्राप्त की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *