तो क्या पशु तस्करों को संरक्षण देते थे,लाइन हाजिर हुए तीनों वर्दीधारी..!!!

( शुभम तिवारी)

शहडोल। पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ला ने बीती रात जिले के जैतपुर, गोहपारू और सोहागपुर थाने में पदस्थ तीन पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच करने के आदेश जारी किए हैं, इनमें प्रधान आरक्षक राजेन्द्र तिवारी जैतपुर,आरक्षक गिरिराज सिंह गोहपारू और आरक्षक नवी हुसैन सोहागपुर शामिल हैं।

हालांकि पुलिस अधीक्षक ने अपने पत्र में पुलिस कर्मियों के नाम और उन्हें लाइन हाजिर करने की सिर्फ दो लाइनों का उल्लेख किया गया है, लेकिन पुलिस विभाग से जुड़े सूत्रों की मानें तो बुधवार को गोहपारू और इससे पहले ब्यौहारी में पकड़े गए पशु तस्करों से जब पूछताछ की गई और पुलिस की साइबर सेल और मुखबिर तंत्र से वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने जब तार खंगालने शुरू किए तो तीनों पुलिसकर्मियों के नाम संभवत सामने आए थे, हालांकि खुलकर किसी भी अधिकारी ने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है, लेकिन तीनों पुलिसकर्मियों के लाइन हाजिर होने से पहले ही इस तरह की चर्चाएं पुलिस विभाग से निकल कर बाहर आ रही थी, कि चौपायों की तस्करी में लंबे अरसे से जिले के थानों में पदस्थ कुछ पुलिस कर्मचारी तस्करों को संरक्षण दे रहे हैं ,जिन की खबर संभवत नवागत पुलिस विभाग के मुखिया को हो चुकी है और जल्दी साक्ष्य मिलने पर उनके खिलाफ कार्यवाही हो सकती है।

बुधवार को जब पुलिस ने 4 दिनों के भीतर कत्लगाह जा रहे चौपायों को तस्करों से मुक्त कराया तो उसके तत्काल बाद ही पुलिस अधीक्षक कार्यालय द्वारा यह आदेश जारी किए जाने की खबर है।

कोतमा ही क्यों बना केन्द्रबिन्दु

3 पुलिस कर्मचारियों के लाइन हाजिर करने के साथ ही बीते 5 दिनों में हुई ब्यौहारी और उसके बाद गोहपारू थाने में पुलिस तस्करों के खिलाफ कार्यवाही में जप्त किए गए सभी वाहन अनूपपुर जिले के कोतमा क्षेत्र के पाए गए हैं, यही नहीं ब्यौहारी पुलिस की कार्यवाही के दौरान जो चार पहिया वाहन चौपायों से लदे ट्रक की रेकी कर रहा था, वह वाहन और उसमें सवार लगभग तस्कर कोतमा क्षेत्र के ही पाए गए हैं, सवाल यह उठता है कि अनूपपुर जिले के कोतमा क्षेत्र से पशुओं की इतने बड़े पैमाने पर तस्करी की जा रही है, जो शहडोल पुलिस के हत्थे चढ़ गए लेकिन अनूपपुर जिले की पुलिस और कोतमा थाने में पदस्थ पुलिस अधिकारी व कर्मचारी इस संबंध में अब तक कोई कार्यवाही क्यों नहीं कर पाए…….शहडोल पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही के बाद अनूपपुर जिले की पुलिस कटघरे में खड़ी दिखाई दे रही है, माना जा रहा है कि पुलिस उप महानिदेशक शहडोल इस संबंध में आने वाले दिनों में अवश्य कोई जांच कार्यवाही के आदेश दे सकते हैं।

शहडोल में फिर पकड़ाये पशु तस्कर @ पुलिस कर्मी को धक्का देकर भाग रहा परिचालक गिरफ्तार,चालक फरार

बैरियर तोड़कर भागे तस्कर, चौपायों सहित गिरोह धराया @ ब्यौहारी पुलिस को मिली बड़ी सफलता

✍✍??
कत्लगाह जा रहे भैंसे और पड़वे फिर पकड़ाये…….

फिर आया अनूपपुर जिले के कोतमा का नाम…?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed