…तो क्या लात मार कर प्रभारी सुधारेंगे यातायात व्यवस्था

Ajay Namdev- 7610528622

कोतवाली निरीक्षक ने स्थल पहुंच आक्रोशित व्यापारियों को दी समझाईश

अनूपपुर। व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए कई जगहों पर यातायात पुलिस के द्वारा आम लोगों को फूल व अन्य उपहार देकर उन्हे समझाईश देते है। तांकि इंसानियत के साथ नगर का व्यवस्था सुदृढ हो और लोगों में प्रेमभावना बनी रहे, लेकिन अनूपपुर का यातायात विभाग इन सब से जुदा है, यहां जनसेवा की भावना छोड कर वर्दी का रौब दिखाकर यातायात व्यवस्था सुधारा जाता है। यातायात व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए जिनके हाथों में कमान दी गई वही अब नियम और कानूनो की धज्जिया उडाने लगे है। जिला मुख्यालय में जहां इन दिनों यातायात व्यवस्था बदहाल हो चुकी है, जिसके कारण आए दिन मुख्य चौराहो एवं तिराहों में राहगीरों को जाम का सामना करना पड़ता है। जिस ओर यातायात विभाग द्वारा कोई ध्यान नही दिया जा रहा है। 17 जुलाई बुधवार को यातायात प्रभारी बृहस्पति साकेत द्वारा जहां यातायात व्यवस्थाओं का जायजा लेने सप्ताहिक बाजार आदर्श मार्ग पहुंचे जहां पर उन्होने सड़क के किनारे दुकान लगाने वाले किराना एवं मसाला व्यापारी के समान में लात मारते हुए अपमानित किया गया।


प्रभारी से ही नाराज लोग
जिला मुख्यालय में जिन्हे यातायात का जिम्मा दिया गया है उन्ही से जब लोग नाराज हो जायेंगे तो उनके अन्य कर्मचारी को क्या सीख मिलती होगी यह कोई भी समझ सकता है। जानकारी के अनुसार सप्ताहिक बाजार के दौरान 17 जुलाई की सुबह लगभग 11 बजे आदर्श मार्ग में रामनारायण सोनी द्वारा अपनी दुकान लगा रहा था, इसी दौरान वहां पहुंचे यातायात प्रभारी बृहस्पति साकेत ने दुकान को खिसकाने की बात कहते हुए उसके समान में लात मारने लगे, जहां आसपास के व्यापारियों ने यातायात प्रभारी की इस हरकत को देखते हुए नाराजगी जताई थी। वहीं यातायात प्रभारी के जाने के बाद सभी व्यापारी एकत्रित हो कर उनके द्वारा व्यापारी के समान पर लात मारना व्यापारियों को अपमानित करने के समान बताया।

एसपी से हुई शिकायत

व्यापारियों में यातायात प्रभारी द्वारा की गई इस हरकत से आक्रोशित होकर मौखिक रूप से शिकायत पुलिस अधीक्षक किरणलता केरकेट्टा से की गई। जहां पुलिस अधीक्षक ने तत्काल कोतवाली निरीक्षक प्रफुल्ल राय को आदर्श मार्ग भेजा गया, जहां पर कोतवाली निरीक्षक के पहुंचने पर सभी व्यापारी वहां एकत्रित होकर यातायात प्रभारी द्वारा व्यापारी के समान पर लात मारे जाने की निंदा की गई। जहां कोतवाली निरीक्षक द्वारा सभी व्यापारियों को समझाईश देते हुए उन्हे अपने दुकानो में वापस लौटाया। लेकिन यातायात प्रभारी द्वारा किए गए इस हरकत की चर्चा पूरे जिला मुख्यालय में दिन भर गूंजती रही।


बदहाल यातायात से आमजन परेशान
जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय में यातायात विभाग द्वारा 8 चिन्हित जगहो पर स्टॉफ की ड्यूटी लगाई गई है। लेकिन स्टॉफ की लापरवाही के साथ ही यातायात विभाग द्वारा दिनभर हाइवें में वाहन चेकिंग के नाम से वाहनो से की जा रही अवैध वसूली तक की शिकायत पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है। जानकारी के अनुसार प्लांइट ड्यूटी में जहां यातायात स्टॉफ लगे हुए है। वहीं हाइवें में इंट्री वसूलने के लिए अपने कुछ खास स्टॉफ को ही लेकर हाइवें में पहुंचते है। जिसके कारण जिला मुख्यालय के बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, सामतपुर, शंकर मंदिर, इंदिरा तिराहा, अमरकंटक रोड, बरबसपुर एवं न्यायालय जैसे महत्पूवर्ण स्थलो की यातायात व्यवस्था पूरी तरह से अव्यवस्थित है।

इनका कहना है
मुझे यातायात व्यवस्था सुधारने का अवसर मिला है, मै शहर को व्यवस्थित करने के लिए लोगों को प्रतिदिन समझाइश देता हूं, मै समझदार हूं ऐसा कृत्य नही कर सकता।
बृहस्पति साकेत
यातायात प्रभारी, अनूपपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *