त्रिपाठी नये साहब का बना रहे जुगाड़

(Amit Dubey-8818814739)
शहडोल। हाल ही में साहब ने कमान सम्हाली है और आचार संहिता प्रभावशील हो गई, उम्र का तकाजा भी है, रिटायरमेंट को ज्यादा समय भी नहीं बचा है, लेकिन पूरी व्यवस्था करने की जिम्मेदारी जिले की सबसे बड़ी जनपद पंचायत के मनरेगा विभाग के लेखा अधिकारी ने अपने ऊपर ले ली है और पंचायतों से वसूली भी शुरू हो गई है। रजिस्टरों की दुकानदारी अभी खत्म ही नहीं हुई कि साहब के नाम पर पूरे क्षेत्र में दुकानदारी तेज कर दी गई।
फिर सक्रिय हुआ चौकीदार
वैसे तो चुनाव में कोई चौकीदार बना है और कोई चौकीदार को चोर कह रहा है, लेकिन संभाग के सबसे बड़े कार्यालय में चौकीदारी करने वाले कर्मचारी की दुकान कुछ दिन के लिए नये साहब के आने से बंद तो हुई, लेकिन पुराने साहब के सहपाठी होने का फायदा कुछ दिनों की रोक के बाद फिर से चौकीदार को मिल गया और वह चारो जिले में ऑल इज वेल की तर्ज पर दो नंबरियों का जुगाड़ सेट कराने में जुट गया है।
सीमा पार करा रहे धीरू
फिल्म शोले में वीरू जिस तरीके से माल साफ किया करता था, जिले के बार्डर वाले थाने में तैनात धीरू को प्रभारी ने सारी कमान सौंप दी है, अब वह हर अवैध गतिविधियों को सीमा पार कराने का ठेका भी ले रखा है, अगर कोई वाहन अंतिम छोर में पकड़ा जाता है तो धीरू वाहन स्वामियों को जिला मुख्यालय तक चार पहिया वाहन में छुड़वाने की जिम्मेदार तक ले लेता है। सही और गलत दोनों ही काम की जिम्मेदारी धीरू सम्हाल रहा है।
कमण्डल के घर में होता है फैसला
अगर किसी को थाना में रिपोर्ट करानी हो या कोई शिकायत देनी हो तो प्रभारी पहले उसे कमण्डल के घर ले जाते हैं और वहां पर शिकायत मार्क होती है और किस तरीके से कार्यवाही करनी है और विवेचना आगे बढ़ानी है, फैसला भी वहीं सुना दिया जाता है, लौटने के बाद ही द्विवेदी जी पूरा निष्कर्ष पीडि़त को सुना देते हैं। शायद प्रदेश का यह पहला थाना होगा जहां जुर्म और अपराध होने के कुछ देर बाद ही सच और झूठ का खुलासा हो जाता है।
खलिहर ढूंढ रहे ग्राहक
चुनावी रंग भले ही रंगा न हो, लेकिन सोशल मीडिया में खलिहर सक्रिय हो गये हैं और कापी-पेस्ट के साथ ही झूठी खबरों को फैलाकर अपनी दुकानदारी चमकाने और जुगाड़ लगाने के लिए खलिहर इन दिनों सोशल मीडिया के हर प्लेटफार्म पर सक्रिय है, यह बात अलग है कि उन्हें देश के इतिहास और राजनीति का कोई ज्ञान न हो, लेकिन वॉटसप यूनिवसिटी से पीएचडी हासिल होने का दावा कर नेताओं को तो गुमराह कर ही रहे हैं, युवाओं और आम लोगों को बरगलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है, वैसे खलिहर की तदात कोयलांचल में सबसे ज्यादा देखी जा रही है, 8 बजे से रात्रि 12 बजे तक खलिहर और भी तेज हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *