दस साल से फरार था खैरहा सरपंच, पुलिस ने किया गिरफ्तार

न्यायालय के परिवाद पर हुआ था मामला दर्ज

(शुभम तिवारी-8770354184)

शहडोल। जिला सत्र न्यायालय के समक्ष सरपंच सहित दो अन्य के खिलाफ परिवाद प्रस्तुत किया गया था। जिस पर सीजेएम न्यायालय ने सुनवाई करते हुए सरपंच सहित दो अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने का आदेश कोतवाली पुलिस को दिया था। वर्ष 2010 भर फरियादी जितेंद्र कुमार सोनी पिता हेमचंद सोनी निवासी खैरहा द्वारा परिवाद में तत्कालीन सचिव ग्राम पंचायत खैरहा संतोष शुक्ला, सरपंच गणेश रौतेल एवं नवनियुक्त सचिव रोहित शर्मा के खिलाफ परिवाद पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया था जिसके बाद न्यायालय ने सुनवाई करते हुए एफआईआर करने के निर्देश कोतवाली पुलिस को दिया था। करीब दस सालों बाद मामले में पुलिस ने मंगलवार की शाम सरपंच गणेश रौतेल को मुखबिर की सूचना पर खैरहा बस स्टैंड से गिरफ्तार किया है। इस खबर बाद लोगो मे काफी हलचल मचा हुआ है।

दस सालों से था फरार

कोतवाली प्रभारी रावेंद्र द्विवेदी ने हलचल को बताया कि मामले मे आरोपियों की तलाश की जा रही थी। पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह कुशवाह के निर्देशन में आरोपी को पकड़ने में सफलता मिली है। पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी सरपंच अक्सर बस स्टैंड खैरहा में दरबार करता है। हलचल को जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि मंगलवार को खैरहा पुलिस की मदद से आरोपी को पकड़कर थाना लाया गया। अगले दिन बुधवार को पुलिस ने आरोपी को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी को पकड़ने में उप निरीक्षक एमपी अहिरवार, उप निरीक्षक ऋषिराज रजक, आरक्षक हरेंद्र सिंह, हीरा महरा की भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *