दावों की खुली पोल @ नाली का पानी जाता था घरों में

(धनपुरी से संतोष शर्मा )

धनपुरी- सोहागपुर क्षेत्र अंतर्गत फिल्टर प्लांट के द्वारा दूषित पानी की सप्लाई थमने का नाम नहीं ले रही धीरे धीरे जनता में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है गत दिवस सोहागपुर क्षेत्र अंतर्गत श्रमिक कॉलोनी अमलाई वार्ड नंबर 16 से महिलाओं का एक समूह श्रीमती मीना केवट के नेतृत्व में दूषित पानी की समस्या को लेकर मुख्य महाप्रबंधक कार्यालय पहुंचा महाप्रबंधक कार्यालय के मुख्य द्वार पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें मुख्य महाप्रबंधक से मिलने नहीं दिया एवं द्वार पर ही खड़ा रखा प्रार्थना खत्म होने के बाद मुख्य महाप्रबंधक में फोन करके फिल्टर प्लांट के इंजीनियर आलोक श्रीवास्तव को जीएम ऑफिस तलब किया और शिकायत करने वाली महिलाओं की शिकायत सुनने के लिए भेजा।


दूषित पानी साथ लेकर आई थी महिला- श्रीमती मीना केवट के नेतृत्व में अमलाई वार्ड क्रमांक 16 से महिलाएं अपने साथ बाल्टी में दूषित पानी लेकर आई थी फिल्टर प्लांट के इंचार्ज आलोक श्रीवास्तव के सामने दूषित पानी की बाल्टी रखी गई जिसे देख कर फिल्टर प्लांट के इंचार्ज ने महिलाओं पर झूठ बोलने का इल्जाम लगा दिया महिलाओं ने कहा कि दूषित पानी की समस्या को लेकर मुख्य महाप्रबंधक कार्यालय में पहले भी सूचना दे चुके हैं जिस पर आलोक श्रीवास्तव ने कहा कि मुझे कोई जानकारी नहीं है लेकिन जब महिलाओं ने 9 सितंबर का रिसीव आवेदन दिखाया तब उन्हें भरोसा हुआ अधिकारियों की जमात खड़े होकर महिलाओं को जल्द से जल्द यहां से हटाने की फिराक में थे और कहां की आप लोग यहां से जाइए हम वहीं आ कर समस्या का समाधान करेंगे।


अनूपपुर कलेक्टर से की जाएगी दूषित पानी की शिकायत- मुख्य महाप्रबंधक से अपनी समस्या बताने आने वाली महिलाओं को जब मुख्य महाप्रबंधक से नहीं मिलने दिया गया तो श्रीमती मीना केवट ने कहा कि दूषित पानी की बाल्टी को लेकर हम सभी अनूपपुर जिले के कलेक्टर को अपनी समस्या बताएंगे सोहागपुर क्षेत्र के अधिकारी तो पानी देखने के बाद भी हमें झूठा साबित करने पर लगे हुए हैं
मीडिया को फोटो ना लेने की दी नसीहत- महिलाओं की समस्याओं को सुनने के लिए भेजे गए फिल्टर प्लांट के अधिकारी आलोक श्रीवास्तव मुख्य महाप्रबंधक कार्यालय के मुख्य द्वार पर मीडिया को फोटो एवं वीडियो ना लेने की हिदायत दी और कैमरे के सामने काफी असहज नजर आए लेकिन शिकायत करने वाली महिलाओं को फिल्टर प्लांट ले जाकर अपने मोबाइल से वीडियो बनवा कर सोशल मीडिया पर वायरल किया और अपनी वाहवाही लूटने की आदत से बाज नहीं आए
7 महीने से खत्म है ब्लीचिंग पाउडर- सोहागपुर क्षेत्र अंतर्गत फिल्टर प्लांट में बीते 7 माह से ब्लीचिंग पाउडर खत्म है फिल्टर प्लांट के इंचार्ज पानी को साफ करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण ब्लीचिंग पाउडर नहीं मंगवा पा रहे हैं इससे ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि क्षेत्र में शुद्ध पेयजल की उम्मीद करना कितना बड़ा धोखा है।


उठने लगी स्थानांतरण की मांग- सोहागपुर क्षेत्र के इतिहास में पहली बार फिल्टर प्लांट की इतनी दुर्गति हो गई है बीते 3 माह से सोहागपुर क्षेत्र की जनता शुद्ध पानी की मांग कर रही है लेकिन उसकी मांग पूरी नहीं हो पा रही है एक अधिकारी के चलते पूरे सोहागपुर क्षेत्र की साख पर बट्टा लग रहा है लेकिन इसके बाद भी मुख्य महाप्रबंधक के द्वारा इस अधिकारी के ऊपर किसी प्रकार की कार्यवाही न करना समझ से परे हैं पूर्व में जब कभी फिल्टर प्लांट की व्यवस्था चौपट होती थी तो मुख्य महाप्रबंधक फिल्टर प्लांट का अचानक निरीक्षण करते थे लेकिन बीते 3 माह से क्षेत्र की जनता दूषित पानी की समस्या से जूझ रही है इसके बाद भी मुख्य महाप्रबंधक के द्वारा किसी प्रकार की कार्यवाही ना करने से फिल्टर प्लांट की व्यवस्था चौपट करने वाले अधिकारी के हौसले बुलंद हैं
सोहागपुर के हरिश्चंद्र का सोशल मीडिया से प्यार- बीते 3 माह से सोहागपुर क्षेत्र की जनता दूषित पानी की समस्या से परेशान हैं यदि कोई भी व्यक्ति दूषित पानी की समस्या को लेकर प्रबंधन को अपनी शिकायत देने जाता है तो यह अधिकारी उन्हें झूठ बोलने का आरोप लगा देता है पूरे सोहागपुर क्षेत्र में सच बोलने का जिम्मा इन्होंने ही उठा रखा है मानो सोहागपुर क्षेत्र के राजा हरिश्चंद्र यही हैं और ईनके अनुसार पूरे क्षेत्र में पानी को लेकर कोई समस्या नहीं है जिसका प्रमाण सोशल मीडिया पर इन्होंने कई बार दे दिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *