देवरी में रोका गया बाल विवाह, 100 डायल पर प्राप्त सूचना पर बचाया गया बचपन

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर एवं पुलिस अधीक्षक जे एस राजपूत के निर्देशानुसार प्रशासनिक एवं पुलिस अमला बाल विवाह पर नकेल कसने के लिए सक्रियता से कार्यवाही कर रहा है। इस अभियान में आमजनो का सहयोग भी मिलता जा रहा है। इसी क्रम में 100 डायल से ग्राम देवरी में महरा समाज के द्वारा एक बाल विवाह किए जाने की शिकायत प्राप्त हुई। ज़िस पर अविलंब कार्यवाही करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग की अधिकारी मंज़ुशा शर्मा एवं थाना प्रभारी चचाई अरविंद साहू ने मंगलवार की सुबह स्थल पर पहुँचकर बाल विवाह को रोका एवं मासूम बचपन को बर्बाद होने से बचा लिया। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर द्वारा राजस्व, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग आदि के मैदानी अमलों को बाल विवाह की कुरीति पर नज़र रखने एवं त्वरित कार्यवाही करने हेतु सूचित करने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों एवं ऐसे क्षेत्र जो बाल विवाह हेतु संवेदनशील हैं वहाँ जागरूकता लाने हेतु निर्देशित किया गया था। इस कुरीति को मिटाने के अभियान में आमजनो का सहयोग अपेक्षित है अगर कोई भी प्रबुद्ध नागरिक ऐसी किसी भी घटना का होना पाते हैं तुरंत सूचित करें। कलेक्टर द्वारा टेंट हाउस शादी कार्ड मैरिज गार्डन आदि के संचालकों विवाह से जुड़े अन्य व्यक्ति सेवा प्रदाताओं को भी बाल विवाह हेतु सेवा प्रदाय न करने के लिए आदेशित किया गया है। उक्त के उल्लंघन पर बाल विवाह निषेध अधिनियम के तहत 2 वर्ष का सश्रम कारावास अथवा 1 लाख तक का जुर्माना या दोनो से दंडित किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.