दो-दो हाथ पर उतारू आरटीओ-बस मालिक

एक तरफ पत्रकारवार्ता, तो दूसरी तरफ चलती रही कार्यवाही
कार्यवाही से बिफरे बस मालिकों ने रोक दिये बसों के पहिए
आधा दर्जन टीमें दिन भर बसों को रोककर मारती रही छापे

(Amit Dubey-8818814739)
शहडोल। परिवहन विभाग में मचा द्वंद गुरूवार को खुलकर सामने आ गया, बसों के स्थाई परमिट की बैठक को लेकर बस मालिकों और परिवहन विभाग के बीच चल रही रस्सा-कसी शायद अब अंतिम दौर में हैं, दोनों खेमों ने गुरूवार को अपनी पूरी ताकत झोंक दी, बस एसोशिएशन शहडोल के द्वारा पत्रकारवार्ता कर परिवहन अधिकारी आशुतोष सिंह भदौरिया पर गंभीर आरोप लगाये गये, वहीं परिवहन विभाग की आधा दर्जन टीमों द्वारा गुरूवार की सुबह से ही मुख्य मार्गाे पर यात्री बसों की जांच का अभियान चलाया गया, जिसमें करीब 2 दर्जन बसों पर कार्यवाही की गई। शाम होते-होते कार्यवाही के विरोध में बस मालिकों ने अपनी बसों के पहिए रोकने और हड़ताल की घोषणा कर दी। दूसरी तरफ परिवहन विभाग की जांच और कार्यवाही भी चलती रही।
यह है अब तक का घटना क्रम
परिवहन विभाग द्वारा जिले से दौड़ रही यात्री बसों के स्थाई परमिट के लिए हुई घोषणा व बैठक की तिथि के निर्धारण के बाद बस मालिकों ने इसका विरोध किया, लेकिन परिवहन अधिकारी ने इस संदर्भ में वरिष्ठ कार्यालय का हवाला देकर बैठक कराने पर अड़े रहे, पहले 21 अगस्त से क्रमिक अनशन व बसों का संचालन बंद करने की घोषणा हुई, फिर परिवहन अधिकारी के वाहन में जान से मारने का पत्र मिला, जिले के प्रशासनिक अधिकारियों की पहल पर दोनों पक्षों में वार्ता हुई और मामला लगभग शांत हो गया, लेकिन गुरूवार को कुछ विभीषणों के फेर में मामले ने फिर तूल पकड़ लिया और दोनों आक्रमक मुद्रा में आ गये।
5 जिलो के आरटीओ ने सम्हाला मोर्चा
परिवहन विभाग द्वारा गुरूवार को जिले में दौड़ रही यात्री बसों के खिलाफ व्यापक कार्यवाही की गई, जिले के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब एक साथ 5 जिलों के परिवहन अधिकारियों के अलावा 3 अलग फ्लाईंग स्कॉर्ट ने बसों की जांचे की, जिसमें पन्ना, उमरिया, सतना और शहडोल सहित रीवा के आरटीओ शामिल थे। परिवहन विभाग के नियमों के विपरीत यात्री बसों का धड़ल्ले से संचालन किया जा रहा था, यात्रियों की जान से खिलवाड़ करने का काम भी बस के संचालन से हो रहा था, विभाग के आलाधिकारियों के निर्देश पर अभी तक की यह सबसे बड़ी कार्यवाही देखने में सामने आई है। अधिकारियों ने बताया कि आने वाले दिनों में भी यात्री बसों पर कार्यवाही जारी रहेगी।
9 बसे जब्त, 12 पर जुर्माना
कार्यवाही के दौरान कुल 8 बसें जब्त कर परिवहन कार्यालय लाई गई, जिनमें एमपी 18 पी 3251 अमित कौर भाठिया, एमपी 18 पी 0801 देवेन्द्र प्रसाद मिश्रा, एमपी 18 पी 2861 कृष्णा ट्रेवल्स, एमपी 65 पी 0147 प्रहलाद, एमपी 18 पी 2234 नावेद बस सर्विस, एमपी 18 पी 0416 इकलाक अहमद, एमपी 17 पी 3387 मंगलानी बस सर्विस और एमपी 18 पी 1297 आकाश ट्रेवल्स तथा 12 बसों पर चालानी कार्यवाही करते हुए 24 हजार 500 रूपये वसूल किये गये, जिसमें दादू एण्ड संस के चार वाहनों से 9500 और मंगलानी बस सर्विस से 5 हजार वसूल किये गये।
रोक दिये बसों के पहिए
बस एसोशिएशन द्वारा स्थाई परमिटों के साथ ही गुरूवार को की गई कार्यवाही के विरोध में सिर्फ दादू एण्ड संस ब्यौहारी को छोड़कर बाकी सभी बस मालिकों ने एकजुट होकर गुरूवार के शाम से ही बसों के पहिए रोक दिये। बस एसोशिएशन के अध्यक्ष महंत गौतम ने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा द्वेषवश कार्यवाही के विरोध में बसों का संचालन रोक दिया गया है। पूरी जानकारी से जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *