दौडती बिजली के बाद भी चोरों ने काटी तार फिर हुई हरद ग्राम में बिजली चोरी, पुलिस के हाथो से दूर चोर गिरोह

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। सरकार बिजली सुविधा से वंचित गांव में बिजली पहुंचाने का काम कर रही है, लेकिन चोर अपने फायदे के लिए सरकार के मंसूबों पर पानी फेरते हुए ग्रामीणों को बिजली सुविधा से दूर किए हुए हैं। खंभों में लगे वायर को काटकर चोरी की जा रही है जिससे ग्रामवासी चोरों की हरकत से अंधेरे में रहने को मजबूर हैं। कबाड चोरों का एक गिरोह बिजली के वायर में सिल्वर चोरी के लिए चालू हो या बंद लाइन में लगे बिजली के तार को काट रहे हैं। यह चोर लगातार अपनी वारदात को अंजाम दे रहे हैं, लेकिन पुलिस एक तार चोरी के गिरोह को पकड नहीं पा रहा है। बीते गुरुवार व शुक्रवार की दरम्यानी रात अज्ञात चोरों ने एक बार फिर भालूमाडा थाना क्षेत्र के हरद और दैखल गांव के बीच पांच खंभों का वायर काट लिया। इससे पहले भी चोरों ने इसी क्षेत्र में तार चोरी की वारदात को अंजाम दिया है।  अंधेरे में हरदवासी दैखल ग्राम पंचायत के बंधवाटोला से हरद मार्ग में करीब 5 खंभे ऐसे थे जिनके तार चोर पूर्व की वारदात के दौरान नहीं काट सके थे। इस बार वे उक्त खंभों के तार को काट कर ले जाने में सफल हुए। तार चोरी जाने से हरद गांव में बिजली गुल हो गई है। कोतमा सब स्टेशन से 11 हजार केवी लाइन द्वारा बिजली पहले दैखल फिर हरद गांव के लिए भेजी गई है। बीते 26 दिसंबर को रात हरद गांव क्षेत्र में चोरों ने 9 किलोमीटर लंबा तार 35 बिजली के खंभों से निकाल ले गए जबकि बिजली चालू थी।नए तार लगाने की लंबी प्रक्रिया होगी हरद के ग्रामवासी चोरों के इस हरकत से बेहद परेशान हैं। अब उन्हें फिर से अंधेरे में रहना पडेगा। बिजली विभाग के लिए भी बार-बार तार चोरी की घटना एक सरदर्द बन गई है। चोरी गए तार की जगह पुन: नए तार की व्यवस्था करने में विभाग को एक लंबी प्रक्रिया को पूरा करना पडता है। बताया गया हरद ग्राम में वर्ष 2018 के नवंबर माह के पहले सप्ताह ही विद्युतीकरण का काम हुआ था। 200 परिवारों की इस आबादी वाले गांव में कई दशक बाद बिजली पहुंची थी, लेकिन गांववासी दो माह में तार चोरी जाने से फिर एक बार लालटेन के सहारे हो गए हैं।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *