नवाचार व प्रभावी शिक्षा पर विश्वविद्यालय में दो दिवसीय बेबीनार का आयोजन संपन्न

शहडोल। पंडित एस. एन. शुक्ला विश्वविद्यालय के रसायन शास्त्र विभाग के तत्वावधान में दो दिवसीय ऑनलाइन बेबीनार का आयोजन 8 व 9 जून को सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के होस्ट व आयोजनकर्ता प्रो. एम.के. भटनागर ने कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना कराकर एवं बेबीनार के सभी अतिथियों का परिचय व स्वागत देकर किया। प्रथम दिवस में कार्यक्रम में मुख्य अतिथि व मुख्यवक्ता के रूप में राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुनील कुमार तथा रिसोर्स पर्सन की भूमिका में उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान के प्राध्यापक व स्वयम- एनपीटी ई एल के लोकल चैप्टर के कॉर्डिनेटर प्रो. राम कृष्ण श्रीवास्तव रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पंडित एस. एन. शुक्ला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मुकेश तिवारी ने की कार्यक्रम का संचालन रसायन शास्त्र विभागाध्यक्ष प्रो. एम. के. भटनागर ने किया। इस बेबी नार में देश के विभिन्न प्रान्तों व क्षेत्रों से कई प्राध्यापकों, शोधकर्ताओं व विद्यार्थियों ने सहभागिता की।
सर्वप्रथम कुलपति प्रो. मुकेश तिवारी के द्वारा बेबी नार के लक्ष्यों और उद्देश्यों पर प्रकाश डाला गया तथा की नोट स्पीकर कुलपति प्रो. सुनील कुमार और अन्य प्रतिभागियों का स्वागत किया गया।
कार्यक्रम के मुख्यवक्ता व मुख्य अतिथि प्रो. सुनील कुमार ने स्लाइड शेयर के माध्यम से बताया की वर्तमान समय में किस प्रकार से छात्र शिक्षकों के संपर्क से दूर हैं ऐसी परिस्थितियों में किस प्रकार से डिजिटल माध्यमों से सरलता से उनसे जुड़कर एक अच्छा संपर्क साधा जा सकता है। प्रो. कुमार नें बताया कि आज हमें अपने शिक्षण माध्यमों में नवाचार करने की आवश्यकता है ताकि उन्हें और अधिक प्रभावी बनाया जा सके। जो आज की आवश्यकताओं के अनुकूल हो।

इसके पश्चात रिसोर्स पर्सन राम कृष्ण श्रीवास्तव प्रोफेसर आईईएचई ने अपने उद्बबोधन में स्लाइड के माध्यम से समझाया कि शिक्षा के नवीन माध्यमो को विकसित करने के पीछे का क्या उद्देश्य है व यह छात्रों के लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध होगा तथा इस हेतु मानव संसाधन विभाग अनेक प्रकार के स्वयं जैसे प्लेटफार्म लेकर आगे आया है।
जो भी शैक्षिक डेटा है उसको आसानी से लोकल से ग्लोबल किया जा सकता है। उ नोहोने विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफार्म से भी परिचित कराया जो वर्तमान में शिक्षण हेतु छात्र व शिक्षक सभी के लिए लाभदायक हैं। प्रो. राम कृष्ण श्रीवास्तव ने सभी प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर भी दिए। बेबीनार के होस्ट प्रो. एम. के भटनागर ने समझाया कि इस प्रकार के वेबीनार के द्वारा शिक्षा को प्रभावी बनाने के लिए जो तरीके हम समझ सके हैं आगे हम उसको छात्रों के बीच उपयोग कर एक अच्छा उदाहरण निर्मित कर सकेंगे। इसी प्रकार से बेबीनार के दूसरे दिवस में दो रिसोर्स पर्सन प्रो. अनुज हुं डेत व अभिषेक सिंह चौहान उपस्थित रहे।

दूसरे दिन में सर्वप्रथम प्रो. अनुज हुदैत उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान ने प्रोजेक्ट स्लाइड के माध्यम से अपने प्रजेंटेशन में बताया कि हम अपने पढ़ने और पढ़ाने के माध्यमों को आई टी के प्रयोग द्वारा और अधिक आसान बना सकते हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि अपने पॉवर पॉइंट प्रजेंटेशन को विभन्न वेबसाइट , इंटरनेट माध्यमो और एनिमेशन को उपयोग में लाते हुए एक बहुत ही अच्छा प्रजेंटेशन मटेरियल तैयार किया जा सकता है। इसके पश्चात रिसोर्स पर्सन अभिषेक सिंह चौहान प्रोजेक्ट मैनेजर डीपी आई ने गूगल क्लास रूम की उपयोगिता और उसके अनुप्रयोग एवं गूगल मीट के विषय मे समझाया। अभिषेक सिंह ने ओ बी एस ब्राउज़र व वेबसाइट आसानी से कैसे निर्मित की जाए इसकी प्रक्रिया पर भी प्रकाश डाला। तथा साथ ही दोनों रिसोर्स पर्सन ने प्रश्न सत्र में सभी के द्वारा पूँछे गए प्रश्नों के उत्तर भी रखे। प्रथम दिवस डा. ममता प्रजापति ने सभी अतिथियों,व देश के हर प्रान्त से जुड़े सभी सहभागियों का आभार प्रगट किया जबकि समापन दिवस पर कन्वेनर प्रो एम के भटनागर ने वेबिंनार में समालित हुए मुख्य अतिथि, रिसोर्स पर्सन , शोधार्थी और विद्यार्थियों का आभार जताया।कार्यक्रम में एस एन शुक्ला विश्वविद्यालय के समस्त प्राध्यापक, शोधार्थी और विद्यार्थी ने सहभागिता की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *