पत्नी को घर ले जाने ससुराल से दो बार बैरंग लौटा था दामाद, ससुर और पत्नी को उतारा मौत के घाट

पत्नी को चाकू से गोदा तो ससुर पर कुल्हाड़ी से हमला

(सुधीर शर्मा-9754669649)

शहडोल। ब्यौहारी थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत बसही के वर्तमान सरपंच नौमन सिंह गोंड़ और उसकी पुत्री शाँति बाई उम्र 22 वर्ष की धारदार हथियार से निर्मम हत्या कर दी गई। घर पर आए दामाद अमरसिंह पिता बाबूलाल ने रात 11 बजे ससुराल पहुंचा और पत्नी को साथ अपने घर ले जाने के लिए कहने लगा लेकिन पत्नी नही मान रही थी। इसके पीछे की वजह यह है कि ससुर नौमन सिंह का कहना था जब तक लिखा-पढ़ी नही होती मैं अपनी बेटी को ससुराल नही भेजूंगा, इस बात पर दामाद अमर सिंह भड़का हुआ था और बगल वाले घर मे शादी समारोह से पत्नी को बुलाकर लाया दोनों जैसे ही घर के पीछे बाड़ी में पंहुचे तभी अमर ने पत्नी शांति के सीने में चाकू घोप दिया इसके बाद वह आंगन की ओर बढ़ा जहां पर ससुर नौमन सिंह चारपाई पर सो रहा था, सिर पर खून सवार दामाद ने धारदार कुल्हाड़ी से नींद में सो रहे ससुर के गले वार कर दिया, जिसके चलते ससुर की मौके पर ही मौत हो गई, इस घटना के बाद आसपास के इलाके में हड़कंप मच गया और ग्रामीणों ने घटना के बाद हत्यारे दामाद को खदेड़कर पकड़ लिया। जिसे पुलिस के हवाले कर दिया गया है। देर रात पुलिस शव को कब्जे में लेकर जांच में जुटी है।

पिछले साल हुई थी शादी

खबर है कि मृतक नौमन सिंह ने अपनी बेटी शांति का विवाह उमरिया जिले के मानपुर थाना अंतर्गत भमरहा गांव में अमर सिंह पिता बाबूलाल से किया था। शादी के बाद रमना में शांति अपने ससुराल गई और दो तीन माह बाद दोनों के बीच विवाद शुरू गया, पत्नी ससुराल छोड़ अपने मायके में पिता के साथ रहने लगी, जिसके बाद दामाद अमर दो बार पत्नी को साथ ले जाने ससुराल बसही आया लेकिन ससुर नौमन अपनी बेटी को बिना पुख्ता आधार के दामाद के साथ भेजने को तैयार नही था। इसी बात से नाराज अमर ने इस बार मानसिकता बना कर ससुराल पहुंचा था कि पत्नी के साथ भेजेंगे तो ठीक नही भेजे तो दोनों को दुनिया से विदा कर दूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed