पानी के लिये तय करना पडता है एक किलोमीटर का सफर

Ajay Namdev-7610528622

डोला। जिले के ग्राम पंचायत डोला में कॉलरी द्वारा पुनर्वास तो कराया गया, लेकिन पीने की पानी की व्यवस्था नहीं उपलब्ध कराई गई जिसे लेकर डोला ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधि द्वारा कई बार आमरण अनशन भी किया गया। अनशन को तुडवाने आये आला अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों को आश्वासन देकर अनशन को तुडवाया तो जरूर जाता है, लेकिन उसके पश्चात ग्रामवासियों को हो रही पानी की समस्या का समाधान नहीं किया जाता है जिससे कि गर्मी के समय में डोला पंचायत में पानी की भारी किल्लत देखने को मिलती है। ग्रामीणों ने बताया कि पीने के पानी की व्यवस्था न होने से लोगों द्वारा रामनगर राम मंदिर से पानी लाया जाता है जो कि एक किलोमीटर दूरी पर स्थित है।
टैंकरों से पानी वितरण
ग्रामीणों ने बताया कि डोला ग्राम पंचायत में टैंकरों के माध्यम से डोला क्षेत्र में पानी वितरण का कार्य कराया जाता है। कुछ माह से टैंकर की संख्या कम हो जाने से हमारे मोहल्ले में पानी पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल पाता है जिससे कि मोहल्ले के लोगों द्वारा घर के पास चल रही खदान हल्दीवाड़ी से निकलने वाले पानी को पाइप के माध्यम से हमारे घर से आधा किलोमीटर दूरी तक लाया गया है। छत्तीसगढ़ वन विभाग द्वारा पूरे जंगल को बैरिकेड किया गया है, लेकिन पानी की किल्लत को देखते हुए हम लोगों द्वारा उसी बैरिकेड के रास्ते से ही जाकर कांवर व डचके के माध्यम से पानी लाकर अपना निस्तार कर रहे हैं।
टैंकरों में हो वृद्धि
हल्दीबाड़ी खदान से पानी ला रही महिलाओं ने बताया कि 5 से 6 वर्ष से हम रामनगर आरटीओ के पास निवास कर रहे हैं तब से लेकर अभी तक पानी की कोई व्यवस्था मोहल्ले में नहीं कराई गई है। पूरे मोहल्ले के लोग नहाने कपड़े धोने के लिए हल्दीबाड़ी खदान से व पीने का पानी रामनगर राम मंदिर से लाते हैं। गर्मी नजदीक आने के कारण टैंकरों की संख्या में वृद्धि कराए जाने के लिए ग्रामीणों द्वारा पंचायत को बोला जा रहा है जिससे कि गर्मी के मौसम में पानी की समस्या ना हो सके।
हैण्डपंप भी बंद पडे
रामनगर आरटीओ चेकपोस्ट कोल मोहल्ले में 1 बोर कराया गया जिसमें 40 फिट भी पानी ना मिलने के उपरांत भी हैण्डपंप स्थापित कर दिया गया व राशि अधिग्रहण कर ली गई, तब से लेकर अभी तक हैंडपंप खराब पडा है। जिनके मरम्मत के लिए कई बार पंचायत को बोला गया पंचायत द्वारा लिखित व मौखिक रूप से पीएचई विभाग को सूचना देने के उपरांत भी अभी तक हैंडपंप सुधार कार्य नहीं कराया जा रहा है।
इनका कहना है-
हमारे द्वारा कई बार लिखित व मौखिक रूप से पीएचई विभाग को हैंडपम्प खराब होने की जानकारी दी जा चुकी है।
राज किशोर शर्मा
सचिव डोला पंचायत

Leave a Reply

Your email address will not be published.