पुस्तैनी संपत्ति को लेकर पुत्रों को किया कटघरे में खड़ा

 15 लाख के रिटर्न में विकास ने बनाया करोड़ों का कालाधन 

मामला ब्यौहारी के सोनम-वैष्णवी ज्वेलर्स का@ पुत्रों के खिलाफ ही व्यूह रच रहे नटवरलाल

(Amit Dubey -8818814739)

 शहडोल। जिले के ब्यौहारी विकास खण्ड मुख्यालय में बरौंधा वाले सोनी जी के नाम से ख्याति प्राप्त परिवार की साख पुस्तैनी दौलत के फेर में खुद परिवार के मुखिया ने सड़क पर ला दी। शौकीन मिजाज के विनोद सोनी ने पहले अपने छोटे पुत्र विकास को संपत्ति के विवाद में पत्नी सहित घर से बाहर कर दिया और शेष दो पुत्रों को अपना वारिश बताकर हरिद्वार का बहाना करके घर से निकल गये, कई महीनों के बाद जब हाथ खाली हुआ और शौक से मन भरा तो घर वापस आये और दोनों पुत्रों से ही विवाद कर बैठे। विवाद इतना बढ़ा कि थाने के बाद मामला कोर्ट तक पहुंचा और दोनों पुत्रों को प्रतिमाह हजारो का भत्ता देने तक बात जा पहुंची, संपत्ति का विवाद यहीं नहीं थमा, किसी समय ब्यौहारी के शातिर बदमाशों में गिने जाने वाले विनोद सोनी ने पुस्तैनी दौलत की लालच और शौक पूरे करने के लिए दोनों सगे बेटों के खिलाफ शिकायत कराकर शासन और मीडिया की सहानुभूति भी बटोर ली। 

यह है विकास के विकास की गाथा

 पीडि़त विनीत सोनी ने बताया कि उसके छोटा भाई विकास पहले पुस्तैनी दुकान सोनम ज्वेलर्स में बैठता था, इस दौरान उसने लगभग 2 से 3 किलो सोना और 40 किलो चांदी बेचकर प्रापर्टी ले ली, जब दुकान का हिसाब-किताब हुआ तो पिता ने उक्त संपत्ति पर एतराज जताया, विवाद इतना बढ़ा कि करीब 1 साल पहले पिता ने उसे घर से बाहर निकाला और विकास खुद मां को लेकर शहडोल में आकर रहने लगा, विकास ने अपने जीवन में पैतृक दुकान पर बैठने के अलावा कोई दूसरा व्यवसाय नहीं किया,आयकर विभाग को भरे गये रिटर्न खुद इस बात का गवाह है कि उसने इन पांच से छ: सालों में 15 लाख के आस-पास की आय बताई है, लेकिन वर्तमान में उसके पास करोड़ों की संपत्ति है, जो उसने पुस्तैनी संपत्ति पर धोखाधड़ी कर पाई है। 

धोखाधड़ी पर उतारू पिता व भाई

 विनीत ने बताया कि इस  विवाद के बाद भी हम दोनों बड़े भाईयों विवेक और विनीत ने बाकी पैतृक संपत्ति पर रहना कबूल किया, लेकिन अब विकास पिता के लौट के आने बाद उसके साथ मिलकर पैतृक संपत्ति से न सिर्फ निकालना चाहते हैं, बल्कि घर से अलग होने के बाद जो संपत्ति मैनें बैंक से लोन लेकर खुद की मेहनत से बनाई है, अब उस पर इनकी नजर पड़ी हुई है और विवाद को आगे बढ़ाकर समाज के सामने बूढ़ी दादी को खड़ा करके पिता और छोटा भाई गंदा खेल-खेल रहे हैं।

…और इस तरह की मनगढंत शिकायत

 विनीत सोनी ने बताया कि पुस्तैनी संपत्ति में उनका बराबर हक होने के बाद भी करोड़ों की संपत्ति हड़पने के फेर में छोटे भाई विकास द्वारा यह पूरा खेल रचा गया है और पिता द्वारा इसकी शिकायत की जा रही है, विनीत ने कहा कि वर्तमान में मेरे पास जो भी मकान और दुकान है, वह सब मैनें बैंक से लोन लेकर अपनी मेहनत से बनाया है, जिसके साक्ष्य बैंक रिकार्ड से लिये जा सकते हैं। दादी रीवा में छोटे चाचा के यहां रहती थी, जिसे पिता द्वारा वहां से ले आकर शिकायत करवाई जा रही है, जबकि उन्हें इसका कोई भान ही नहीं है। गौरतलब है कि विनोद सोनी पिता स्व.परमेश्वरदीन निवासी वार्ड क्रमांक 03 मेन रोड ने थाने में इस आशय की शिकायत दर्ज कराई कि हमारे पुत्र विनीत सोनी और विवेक सोनी ने हमारे साथ मारपीट कर घर से निकाल दिया है, मैंने उसे उसका हिस्सा पहले ही दिया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *