प्रधानमंत्री खनिज प्रतिष्ठान निधि का जमकर हुआ बंदरबांट

प्रधानमंत्री खनिज प्रतिष्ठान निधि का जमकर हुआ बंदरबांट
धरातल पर नहीं दिखाई दे रहा है कार्य

राजेश सिंह

इन्ट्रोः– जिले की व्यवस्थाओं को ठीक करने के लिए सन् 2016-17 में जिले के तत्कालीन अधिकारियों तथा नेताआंे की एक बैठक के उपरांत कई करोड़ रूपये प्रधानमंत्री खनिज प्रतिष्ठान निधि से स्वीकृत किया गया। इस पैसे को जिले की समस्त जनपद पंचायतों तथा कई नगरपालिकाओं को विकास कार्यो के लिए दिया गया। लेकिन पैसे की बंदरबांट किस कदर से की गई है इसका लेखा जोखा एक बार में प्रकाषित किया जाना संभवन नहीं है। क्योंकि मामला कई करोड़ और कई क्षेत्रों तथा कई विभागों से जुड़ा हुआ है,लेकिन भ्रष्टाचार की गाथा जो सामने आयेगी उसको आप भी सुनकर दंग रह जायेगें।
अनूपपुर। प्रधानमंत्री खनिज प्रतिष्ठान निधि से जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ के कई ग्राम पंचायतों में विकास के लिए कई करोड़ रूपये सन् 2016-17 में स्वीकृत किये गये। इस राषि का धरातल पर उपयोग किया जाना कम ही दिखाई पड़ रहा है। ग्राम पंचायतों का भ्रमण के उपरंात जो स्थिति सामने आयीं वह कागजी हकीकतों से कोषो दूर दिखाई दी। अधिकारियों में स्वीकृत राषि की जो बंदरबांट की है उसकी यदि सूक्ष्म जांच कराई जाये तो कई चैकाने वाले तथ्य खुलकर सामने आ सकते है तो वहीं इस भ्रष्टाचार के अकंठ में डूबे कई अधिकारी-कर्मचारी सलाखों के पीछे नजर आयेगें। जो भ्रष्टाचार किया गया है वह कोई मामूली भ्रष्टाचार नहीं है कहीं हितग्राहियों के नाम पर तो कहीं विकास के नाम पर पैसा का आहरण कर लिया गया,लेकिन काम आज भी पूरा नहीं हो सका।
शेड निर्माण हेतु दी गई राषि
जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ की ग्राम पंचायत खमरौध में लेयर मुर्गी शेड निर्माण हेतु 109 हितग्राहियों को 1 लाख 82 हजार रूपये के हिसाब से पैसा प्रधानमंत्री खनिज प्रतिष्ठान निधि से जारी किया गया,लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि इस ग्राम पंचायत में पहली बात तो इतने हितग्राहियों को आज तक पूरी राषि दी ही नहीं गई और न ही सभी हितग्राहियों का शेड निर्माण हुआ। खानापूर्ति के लिए कुछ हितग्राहियों का आधा-अधूरा कार्य कराकर पैसे की बंदरबांट कर ली गई।
इन हितग्राहियों का दिया लाभ
आईटीआई कार्यकर्ता सुनील कुमार चैरसिया के द्वारा चाही गई जानकारी में जिला पंचायत अनूपपुर के द्वारा जो सरकार आंकड़ा प्रदान किया गया उसके मुताबिक जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ के ग्राम पंचायत खमरौध में लेयर मुर्गी शेड निर्माण हेतु कमेष्वरी बाई, जयमंती, ललिता बाई, यषोदा बाई, प्रेमवती, कलषवती, इन्द्रवती, रूकमणि, सम्पतिया, केतकी, सियाबाई, गौरीबाई, गोमती बाई, रामबाई, संतोषी बाई, मोहवती, चन्द्रवती, जानकी बाई, तीरथ बाई, सोना बाई, लक्ष्मी बाई, सोमती बाई, कलावती, ललिया बाई के अलावा 109 हितग्राहियों को 1 लाख 82 हजार रूपये की राषि कागजों में प्रदान की गई है। जबकि जमीनी हकीकत जाकर देखी जा सकती है।
निर्माण कार्य में हुई लूट
जनपद पंचायत पुष्पराजगढ़ की ग्राम पंचायत बड़ी तुम्मी में पीसीसी आंतरिक मार्ग कमलभान के घर से रामभान के घर तक 14 लाख 94 हजार रूपये तथा बसंतपुर से बेनीबारी मार्ग पर डुबसरा नाला में पुलिया निर्माण हेतु 4 लाख 99 हजार रूपये, बसंतपुर में गरनईया नाला में आरसीसी पुलिया निर्माण 4 लाख 99 हजार रूपये तथा आरसीसी लपटा निर्माण हर्रई नर्बदा टोला से खाल्हेय टोला पहुॅच मार्ग 10 लाख रूपये की राषि जारी की गई,लेकिन निर्माण कार्य की हकीकत जाकर देखी जा सकती है।
भ्रष्ट उपयंत्री का कारनामा
जनपद पंचायत में पदस्थ मनरेगा सहायक यंत्री और उपयंत्री तथा विभाग के अधिकारियों ने मिलकर पैसे की बंदरबांट की है जो कार्य होने चाहिए थे वह आज भी पूरे नहीं हुए है। कागजों मंे हितग्राहियों को लाभ पहुॅचाकर सरकारी धन का जमकर दुरूपयोग किया गया है। क्षेत्र में पदस्थ ऐसे भ्रष्ट उपयंत्री जो कभी भ्रष्टाचार के आरोप में अनूपपुर जनपद पंचायत से हटाकर पुष्पराजगढ़ जनपद पंचायत भेजा गया,लेकिन उनके कार्यषैली में कोई परिवर्तन दिखाई नहीं दिया। घोटालो के मषहूर ऐसे उपयंत्री के खिलाफ जांच और कड़ी कार्यवाही की मांग की गई है।
इनका कहना है
मैं अभी उन कार्यो की समीक्षा नहीं कर पाया हूं, लगातार चुनाव में व्यस्त रहने के कारण ऐसे कार्यो की समीक्षा अभी तक नहीं हुई है, हम इसकी समीक्षा करने के पष्चात् यदि गलत पाया गया तो दोषियो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
सरोधन सिंह
सीईओ, जिला पंचायत अनूपपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed