प्रधान आरक्षक का शव आवास पर मिला संदिग्धावस्था में, सुसाईट नोट में लिखा था कि मैं जिंदगी से हार चुका हूँ

Ajay Namdev- 7610528622

प्रधान आरक्षक का शव आवास पर मिला संदिग्धावस्था में, सुसाईट नोट में लिखा था कि मैं जिंदगी से हार चुका हूं 


अनूपपुर। चचाई थाना में प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ 35 वर्षीय सूर्यप्रकाश शर्मा का शव रविवार की सुबह उसके आवास पर संदिग्धावस्था में पाया गया। इसकी सूचना प्रधान आरक्षक की पत्नी ने चचाई थाना में दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा तैयार कर पीएम उपरांत परिजनों को सौंप दिया. पुलिस मामले की जांच कर रही है। एसडीओपी अनूपपुर उमेश गर्ग का कहना है कि प्रधान आरक्षक के पास से एक सुसाईट नोट भी बरामद की गई है,जिसमें उसने अपनी मौत को खुद की परेशानियों के कारण जिम्मेदार बताया. सुसाईट नोट में लिखा था कि मैं जिंदगी से हार चुका हूं, अब जीना नहीं चाहता. हांलाकि मामले में पुलिस का कहना है कि सम्भवत: सूर्यप्रकाश ने जहर का सेवन किया था, घर में उल्टी भी पाया गया है.वहीं डॉक्टरो का कहना है कि मृतक के शरीर पर किसी प्रकार के चोट के निशान नहीं पाए गए हैं, मृतक का चेहरा साफ किए जाने के कारण उसके जहर होना स्पष्ट नहीं हुआ है, अब बिसरा जांच में ही सम्भव हो. इसके अलावा मौत का समयावधि सुबह 6 बजे से 10 बजे की बीच बताई है. डॉक्टर के अनुसार मौत के 2-4 घंटे के बीच शरीर में अकडऩ बनती है। जानकारी के अनुसार प्रधान आरक्षक सूर्यप्रकाश दो दिन पूर्व ही इंदौर से प्रशिक्षण कर वापस चचाई लौटा था, जहां उसकी पत्नी अमलाई मायके में थी. सुबह आवास पर आने पर उसने पति को आवाज लगाई, लेकिन कमरे का दरवाजा बंद पाया, संदेह होने पर आसपास के लोगों को जानकारी देकर दरवाजा तुड़वाया तो बिछान पर प्रधान आरक्षक मृत पाया हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed