फिर पकड़ाया अमलाई में अवैध कोयला @ पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहे सवाल

( अजय पाल+91 88711 70034)
अमलाई/ शहडोल। सोमवार की सुबह अमलाई थाना अंतर्गत चीफ हाऊस कालोनी में अवैध रूप से संग्रहित किया गया कोयला सूचना के बाद 100 डॉयल के माध्यम से जब्त किया गया, कोयले के टुकड़ों का आकार देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोयला बोरियों में नहीं बल्कि किसी वाहन से लाकर रखा गया है, जिसे पास ही संचालित ईंट भ_ों के लिए मंगाया गया होगा, नागरिको द्वारा सूचना देने के बाद 100 डॉयल मौके पर पहुंची, बाद में अमलाई थाने की पुलिस भी वहां पहुंची, लेकिन खैरहा की तर्ज पर पहले तो कोयले की मात्रा चौथाई से भी कम कर दी गई और फिर लावारिस मानते हुए मामला दर्ज कर लिया गया। गौरतलब है कि कोयला तस्करी रोकने के लिए पुलिस अधीक्षक ने सख्त निर्देश दिये हुए है, वहीं दूसरी ओर अमलाई, धनपुरी, खैरहा थाना क्षेत्र अंतर्गत राजेन्द्रा, दामिनी में बेखौफ कोयले की तस्करी हो रही है, सूत्रों का कहना है कि इनमें कोयला माफिया, स्थानीय पुलिस व संबंधित विभाग की मिलीभगत है, उक्त गठजोड़ की मदद से कोयले का अवैध उत्खनन व ढुलाई धड़ल्ले से जारी है, एक समय था जब पुलिसिंग इतनी तगड़ी थी कि अपराध करने से पहले अपराधियों के मन में डर रहता था, लेकिन अब पुलिसिंग सुस्त पड़ी है। अब क्षेत्र के कोयला खदानों से रोजाना व्यापक पैमाने पर कोयला की चोरी हो रही है। कोयला चोरी में पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं।
कार्यवाही सिर्फ दिखावे की
क्षेत्र कोयला चोरी का कारोबार बड़े पैमाने पर हो रहा है, कोयला चोरी करने वालो का न पकड़ा जाना पुलिस की कार्यशैली को संदेह के दायरे में खड़ा करता है। रोजाना कोयला चोरी होने के बाद भी पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किया जाना सेटिंग की ओर इशारा कर रही है। ऐसे में खाकी के दामन में दाग लगना लाजिमी है। सूत्रों की मानें तो पुलिस के कुछ अफसरों के शह के कारण यह धंधा गुलजार है। अब देखने वाली बात होगी कि अमलाई, धनपुरी व खैरहा में चल रहे काले धंधे पर अंकुश लगाने खाकी के वरिष्ठ अधिकारी क्या ठोस कदम उठाते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *