फीवर एवं सेप्टिक टैंको के खतरनाक दुष्प्रभावों की रोकथाम विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

रिपोर्ट-देवानंद विश्‍वकर्मा

अनूपपुर/ नगर पालिका कोतमा के द्वारा शहरी विकास एवं समाज कल्याण मंत्रालय नई दिल्ली के निर्देशानुसार नेशनल सफाई कर्मचारी वित्त एवं विकास निगम, ग्रीन जॉब स्किल कॉउंसिल, सम्पूर्णा समिति और संधान ट्रस्ट के सहयोग से स्वच्छ भारत मिशन के तहत खतरनाक अपशिष्ट के निपटान तथा मैन्युएल स्कैवेनजिंग एक्ट 2013 पर केंद्रित कार्यशाला का आयोजन सामुदायिक भवन नगरपालिका कोतमा में आज किया गया। कार्यशाला में उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्रीनिवास शर्मा ने स्वच्छता के महत्व को चिन्हित कराते हुए कहा कि स्वच्छता के लिए समाज के हर वर्ग को इस भागीरथी प्रयास मे साथ आने की जरूरत है। विषय विशेषज्ञ के रूप में डॉ. राकेश रंजन ने स्वच्छ भारत मिशन के उद्देश्यों, नगरीय निकाय और नागर समाज की भूमिका, कचरे के निपटान की वैज्ञानिक विधि के संबंध में जानकारी दी,आपने मैन्युएल स्कैवेनजिंग एक्ट 2013 के प्रावधानों के संबंध में भी जानकारी दी। सन्धान ट्रस्ट के चीफ ट्रस्टी चेयरमेन सुनील चैरसिया ने बतलाया कि भारत सरकार के माध्यम से उक्त कार्यशाला का आयोजन देश के सभी नगरीय निकायों में किया जा रहा है, इसी क्रम में आज 16 अगस्त को कोतमा नगरपालिका में उक्त कार्यशाला का आयोजन किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन के क्रियान्वयन में आने वाली चुनौतियों और कठिनाइयों पर स्वच्छ भारत मिशन की नोडल अधिकारी शिप्रा सिंह ने विस्तार से चर्चा की। कार्यक्रम में नगर पालिका कोतमा के अधिकारी ,कर्मचारी और नगर पालिका अंतर्गत सफाई के कार्य में लगे सफाई कर्मियों ने हिस्सा लिया लगभग 45 प्रतिभागियों ने आज एक दिवसीय कार्यशाला में सहभागिता की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed