फीस न देने पर महर्षि विद्या मंदिर ने परीक्षा से दिया उठा

जनसुनवाई में अभिभावक ने दी शिकायत

(शुभम तिवारी+91 78793 08359)
शहडोल। संभागीय मुख्यालय में संचालित महार्षि विद्या मंदिर विद्यालय के प्रबंधन द्वारा कक्षा एल.के.जी. के छात्र को उसके अभिभावक द्वारा फीस न जमा किये जाने के कारण परीक्षा नहीं देने दी गई, छात्र सारांश सोनी के पिता विनोद सोनी ने मंगलवार को कलेक्टर की जनसुनवाई में पहुंचकर विद्यालय प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाये और प्रबंधन तथा विद्यालय की प्राचार्या भावना तिवारी के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की।
कैंसर होने के कारण नहीं जमा हुई थी फीस
कलेक्टर को दी गई शिकायत में विनोद सोनी ने उल्लेख किया कि वह मध्यम वर्गीय परिवार से हैं और विद्यालय में बच्चे की फीस जमा करने का इच्छुक भी है, लेकिन बीते माहों अचानक उसके पिता को कैंसर होने की जानकारी मिली, पिता को मौत से बचाने के लिए उन्हें लेकर अस्पतालों के चक्कर काटता रहा, इसमें कुछ माह गुजर गये और आर्थिक तंगी और बढ़ गई, अंत में फरवरी माह के प्रारंभ में ही पिता की मौत हो गई, जिस कारण फीस जमा नहीं कराई जा सकी, पूरे मामले की जानकारी छात्र के पिता द्वारा महर्षि विद्या मंदिर की प्राचार्य श्रीमती भावना तिवारी को दी गई, लेकिन उन्होंने एक नहीं सुनी और बच्चे को परीक्षा से वंचित कर दिया।
मानसिक आघात और प्रताडऩा का आरोप
विनोद सोनी ने बताया कि बच्चे को परीक्षा से वंचित किये जाने के कारण बच्चा व उसकी मां सहित पूरा परिवार भारी मानसिक आघात से गुजर रहा है, पिता ने आरोप लगाया कि परीक्षा में बैठाने के लिए निवेदन करने वह खुद विद्यालय गया था, लेकिन प्राचार्या द्वारा खुलेआम बच्चों के सामने कहा गया कि जहां शिकायत करना है कर दो, मेरा कुछ नहीं बिगड़ेगा, यही नहीं पुत्र व विद्यालय के अन्य बच्चों के समक्ष अपमानित किया गया।
(बॉक्स बनाकर लगाये)
शिकायत में अधूरा सच: प्राचार्या
महार्षि विद्या मंदिर की प्राचार्या भावना तिवारी ने इस संबंध में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि यह सही है कि बच्चे को परीक्षा से वंचित किया गया है, लेकिन उन्हें अपमानित नहीं किया गया है, चूंकि उनकी विद्यालय की व्यवस्था और खर्चे सब बच्चों से मिलने वाली फीस पर ही टिके हैं, ऐसी स्थिति में बच्चे से फीस लेना अनिवार्य है, पिता को कैंसर या उनकी मौत के अलावा अन्य परेशानियों की जानकारी हमें अभिभावक द्वारा नहीं दी गई है, जिला प्रशासन द्वारा मामले की जांच के संदर्भ जानकारी मांगी जायेगी तो हम अपना पक्ष अवश्य रखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.