बांधवगढ़ में लापरवाही से फैल सकता है कोरोना का संक्रमण

टिकटों की कालाबाजारी के चलते अधिकारी इकट्ठा करवा रहे भीड़
पर्यटक रात से लेकर सुबह तक लगे रहते हैं कतार में

(Amit Dubey-8818814739)
उमरिया। विश्व विख्यात पर्यटक स्थल बांधवगढ़ हमेशा पर्यटकों के पर्यटकों की बदनामी की सुर्खियों में रहा है एक तरफ भारत सरकार कारोना वायरस को लेकर बहुत चिंतित है और सीधे आदेश जारी कर रही है कि किसी भी जगह पर भीड़ न लगने दें, किंतु पार्क प्रबंधन अपनी काली कमाई के चक्कर में पर्यटकों की भीड़ तत्काल टिकट के नाम पर इक_ा कर रही है, यह पूरा मामला कैमरे में कैद हुआ। टाइगर रिजर्व के मुखिया को शायद करोना वायरस की कोई चिंता नहीं है। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व पार्क प्रबंधन यदि भीड़ हटाना चाहे तो जो तत्काल की लाइनें लगती हैं, जहां पर भीड़ और होड लगती है, वहां पर पहले आओ, पहले पाओ की तर्ज पर टोकन बांटकर टिकट दी जा सकती है, लेकिन टिकट काउंटर में पदस्थ अधिकारी और कर्मचारी अपनी कमाई के चलते पर्यटकों को वायरस के खतरे की ओर धकेलने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।
दलाल काट रहे चांदी
पहले ऐसा था की सुबह की टिकट शाम को 3 से 7 के बीच में वितरण कर दी जाती थी ताकि पर्यटकों को पर्यटकों की भीड़ ना लगे और रात्रि के समय में पर्यटकों को परेशानी न हो, किंतु अब पर्यटकों को परेशान करने के लिए रात्रि के 12 बजे के निर्देश दिए गए 12 बजे से खड़े होकर सुबह 5 बजे टिकट मिलती है, जिससे पर्यटक परेशान हो रहे हैं और रात्रि भर टिकट काउटर के बाहर और सड़क पर बैठे रहे है, इतना ही नहीं अब पर्यटक दलालों का सहारा ब्लैक में टिकट लेने के ले रहे हैं।
कुण्डली मारकर बैठे एसडीओ
पार्क में एक ऐसे एसडीओ भी हैं, जिनकी पदस्थापना पनपथा अधीक्षक के पद पर है, लेकिन वह प्रभार में एसडीओ पर्यटन के रहे हैं, साथ ही बीच में उन्हें मलाईदार पद उप वन संचालक बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व का भी चखने को मिला है, जबकि चुनाव आयोग के नियमों के तहत तीन साल से अधिक किसी भी अधिकारी का एक ही स्थान पर पदस्थ रहना नियमों के विपरीत है, वहीं पहले शहडोल में ही पदस्थ थे और शहडोल में ही एक आलीशान हवेली भी तान रखी है, जहां पर बांधवगढ़ के कुछ कर्मचारियों को ऑफ रिकार्ड तैनात कर रखा है।
पर्यटन पर लगे रोक
बांधवगढ़ नेशनल पार्क में पर्यटकों का आना बंद किया जाए जो देश-विदेश से यहां आते हैं घूमने उन पर रोक लगाई जाए जहां पूरे देश दुनिया में कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में अलर्ट है वहीं पर ऐसा खतरा प्रदेश में ना हो और यहां आने वाले पर्यटक बांधवगढ़ में आ सकते इसी को लेकर यहां एकदम पूरी तरह से रोक लगा दी जाए बंद कर दिया जाए बांधवगढ़ पर्यटन दर्शन को लेकर बहुत ही जरूरी अत्यंत आवश्यक है इसमें कोताही लापरवाही न बरतें सरकार से यह अपील है जनहित में जानकारों ने की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *