बड़ी कार्यवाही : लाखों का गाँजा और पुरा गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

(शिरीष नंदन श्रीवास्तव)
20 लाख की शो कार और 5.5 लाख के गांजे के साथ 5 गांजा तस्कर शहडोल पुलिस के कञ्जे में
सामाजिक जीवन में आ रहे विघटन एवं पारिवारिक जीवन में आ रहे तनाव के पीछे एक बहुत बड़ा कारन

 पुलिस अरधीक्षक
शहडोल सत्येन्द्र कुमार शुक्ल द्वारा अपने कार्यभार ग्रहण करने केे बाद से सतत रूप से इस संबंध में प्राप्त हुईसूचनाओं के संदर्भ में इस विषय को वड़ी गंभीरता से संज्ञान में लिया गया। अपने सभी अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को नशे के विरूद सख्त एवं व्यापक कार्यवाही करने के लिए निदेश दिए। इस क़रम में विगत 04 माह में ही शहडोल जिले में नशे के विरूदध तावड़तोड़ कार्यवाही की गई। जिले में लंबे समय से नशा तस्करी एवं व्यवसाय में अपने पैर जमाए हुए अपराधियों के खिलाफ्फ कड़ी कार्यवाही की गई है। नशा बेचने वाले न केवल स्थानीय अपराधियों के खिलाफ पुलिस द्वारा कार्यवाही की गई बल्कि इस नेटवर्क के पूरी श्रंखला को ध्वस्त करने का प्रयास किया जा रहा है।

दिनांक 28.06.2020 को थाना सोहागपुर में सूचना प्राप्त हुई कि सतगुरू स्कूल के पास दीपक विश्वकर्मा एवं उसकी माँ राधा विश्वकर्मा अपने घर में मादक पदार्थ गांजा काफी मात्रा में बिक्री करने के उद्येश्य से रखे। प्राप्त सूचना के आधार पर थाना सोहागपुर से पुलिस की टीम पूछताछ एवं कार्यवाही हेतु सतगुरू स्कूल हुए
पानी टंकी के पास रामानुज कॉलोनी में संदेही दीपक विश्वकर्मा पुत्र स्व. दीना विश्वकर्मा उम्र 25 वर्ष एवं .राधा विश्वकर्मा पति स्व. दीना विश्वकर्मा उम्र 48 वर्ष के घर पहुंची। संदेहियों से पूछताछ उपरांत उनके घर की तलाशी लेने पर दीपक विश्वकर्मा के घर में से उसके द्वारा छिपाये गए स्थान से प्लास्टिक की बंधी बोरी में गांजा प्राप्त हुआ। राधा विश्वकर्मा की निशादेही पर भी उसके ही घर से प्लास्टिक की बोरी में गांजा प्राप्त हुआ। मां-बेटे के कब्जे से बरामद गंजे की कुल मात्रा 21 किलो पायी गई। लगभग 2.5 लाख रूपये कीमती इतनी बड़ी मात्रा में गांजा के बारे में इन आरोपियों से पूछताछ किये जाने पर कोई वैधानिक कारण नहीं बताया गया बोनों आरोपियों को गिरफतार करके बरामद गांजे के साथ थाना सोहागपुर में धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट के तझत कार्यवाही की
जा रही है। राधा विश्वकर्मा ने पूछताछ में बताया है कि उसका परिवार लम्बे समय से गांजे का व्यवसाय करता आ रहा है। राधा का पति दीना विश्वकर्मा कई वर्षों तक गांजा बेचता रहा है। लगभग 02 वर्ष पहले उसकी मृत्यु के बाद माँ बेटे गांजे के व्यवसाय में लग गए। वर्ष 2019 में भी दीपक विश्वकर्मा के विरूद्ध थाना सोहगपूर में गांजा बरामद किये जाने पर एनडीपीएस एक्ट क तहत कार्यवाही की गई थी। इसके बावजूद उसके कत्यों में कोई परिवर्तन नहीं हुआ और लगातार वह गांजा बेचने के काम में लगा रहा। पुलिस को लम्बे समय से इनकी गतिविधियों की सूचना मिल रही थी। पुलिस द्वारा लगातार नजर रखते हुए पुड़ियों में गांजा सेवन करने वाले ग्राहकों को और छोटे व्यापारियों को गांज बेचने की स्थिति की तस्दीक हो रही थी। पुलिस बड़ी खेप के साथ आरोपियों को दबोचने की
फिराक में लगी हुई थी। कल जब पुलिस को बड़ी मात्रा में गाजा इन आरोपियों के कब्जे में होने की सूचना मिली लिखे
गो को. तो प्रलिस द्वार स्पष्ट कार्य योजना के तहत दबिश की कार्यवाही गएवं 21 सका। राधा विश्वकर्मा एवं दीपक विश्वकर्मा ने पृथ्ठताछ म बतावा है कि वबुढ़ार मे क चौधरी से गांच खरीदते रहे हैं। ओम चौधरी की पतारसी शुरू कर दी गई है। स प्रकार नेटवर्क े
पुलिस पहुंचने का प्रयास करेगी और शहडोल जिले में नशे के खेप पहुंच ही न के ाप्रयाविया जावेगा। थाना सोहागपुर प्रभारी श्री सुदीप सोनी के नेतृत्व में उनकी पूरी टीम में इस पूरी हिम में पूरी सांमु जिम्मेदारी की भावना से बढ़-चढ़कर भाग लिया है। पुलिस अधीक्षक शहडोल ने इस टीम की विशेष से पूरस्कत करने की घोषणा की है। मैं मा इसी क्रम में थाना बुढ़ार अंतर्गत पुलिस चौकी कैशवाही अंतर्गत लगभग 24 किली की दडढ़ी मात्रा में दो कारों में गंजा बरामद हुआ है। पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी कि जिला अनूषपुर गिगदा रोमें अनुपपुर से गिरवा की ओर ग्राम रामपुर का दिगम्बर राठौर अपने साथी सुनील जायसवाल नিরासी रामपुर रजन पटेल निवासी एडरिय एवं उमेश पटेल निवासी पड़रिया एक सफेद रंग की स्कोडा कार क़मां सीजी 10 ळी 428 में काफी मात्रा में गांजा लेकर आ रहा है। सुनील जायसवाल की कार के आग मास्त्रति क बुलेनो कार एमपी 65 सी 3115 को अजय साहू चलाते हुए पायलटिंग कर रहा है। पुलिस द्वारा जैसे ही सूचना प्राप्त हुई तो पूरी संक्रियता दिखाते हुए संबंधित सड़क पर एमबुश लगाकर घेराबंदी की गई। पुलिस को देखते ही पायलटिंग करता हुआ वाहन
चालक कफी फू्ती से सड़क से बोलेनो गाड़ी को नीचे उतारकर भाग खड़ा हुआ। बीछे आ रही स्कोडा कार दे डाईवर ने भी तेजी से गाड़ी यूटन लेकर वापस करनी चाही लेकिन पुलिस ने छाउंटर एम्बुश लगा रखा था जिससे यह गडी पकड़ ली गई। दोनों गाड़ियों एवं उनके सवारों के बारे में जांच-पड़ताल किये जाने पर पाया गया कि पाकन्टिंग वाहन बोलेनो का वाहन चालक अजय साहू पिता कालीदास साहू उम्र 28 वर्ष निवासी कुरनिहा टोला रामप्ूर थाना
अमलाई जिल शहडोल गाड़ी छोड़कर भाग गया है। स्कोडा कार में 1. सुनील ज्नयसवाल पिता अशोक जायसवाल उम्र 30 साल निवासी रामपुर, 2. राजन उर्फ रजन पटेल पिता ददुल्ला पटेल उम्र 40 साल निवासी ग्राम पडरिया 3. दिगुम्बर सिंह राठौर पिता प्रीतम लाल राठौर उम्र 35 साल निवासी रामपुर पकड़े गए इस वाहन का एक और सवार उमेश पटेल पिता लोकनाथ पटेल उम्र 30 साल निवासी पडरिया चीकी केशवाही वाहन से उतरकर भाग गया।
इस स्कोडा कार में 24 किलो गांजा बरामद हुआ। लगभग 3.60 लाख कीमती यह गांजा इन गांजा तस्करों द्वारा शहडोल जिले में खपाने के लिए लाया जा रहा था। तीनों आरोपियों को गिरफतार कर 24 किले गांजा के संबंध में घारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध करके व्यापक विवेचना की जा रही है। इस कार्यवाही में पुलिस चौकी केशवाही प्रभारी उप निरीक्षक अर्चना धुर्वे और उनकी टीम तथा थाना प्रमारी बुढ़ार श्री महेन्द्र सिंह चहान के नेतृत्व में थाना बुढ़ार की टीम को पुलिस अधीक्षक शहडोल नेपुरस्कृत करने की घोषणा की है। इस संबंध में ज्ञात हो कि विगत सप्ताह थाना सोहागपूर क्षेत्रांतर्गत बोलेरो वाहन में 11.4 किलोग्रम
गाज की खी पकड़ी गई थी जो कि राजेश जैन से पछताछ में पता चला था कि यह गांजा भी दिगम्बर राठीर एवं
अजय साहू द्वारा ही उसे दिया गया था। दमोह के दस नामी गांजा तस्कर राजेश जैन ने बताय कि वह लम्बे समय इन लोगों से गांजा की खेप ले जाकर दमोह जिले में वेचता रहा है। राजेश जैन का भाई राकेश जैन दमोह जिले का निगरानी बदमाश है और कई एनडीपीएस के प्रकरणों में जेल जा चुका है। इस प्रकार दिगम्बर राठौर और अजय हैं। साहू के तार जिले के बाहर भी गांजा तस्करों से जुड़े हुए : यना चचाई जिला अनुपपुर में सुनील जायसवाल केखिलाक एनडीवीएस एक्ट का अपराध वर्ष2014 मे पंजीबळ्ध हो चुका है। दिगम्बर राटीर के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के दो प्रकरण एवं 25/2/ সनत एक्ट का एक प्रकरण पजीवद्ध हो चुका है। दिगम्बर राठीर एनडीपीएस एक्ट के नामले में दस साल क. लिए
जत में भी रहा चुका है। दर्ष 2017 में जेल से 10 साल की सजा काटने के बाद छूटकर आने के बाद से धुनः यह गाजे के व्यवसाय में सीलिष्त हो गया है उपराक्त दोन मामलों के अलावा दिनांक01.03.2020 से 25.05.2020 तक की अवधि में जिला शहडील पुलिस ने नारकोटिक्स एक्ट एवं मध्यप्रदेश इं कंटरोल एक्ट के तहत बड़ी कार्यवाही करते हुए निम्नानुसार आपराधिक प्रकरणदर्ज करते छुए भारी मात्रा में मादक पदार्थ जात किये हैं एनडीपीएस एक्ट के तहत की गई कार्यवाही जाती मादक पदार्थ की मात्रा प्रकरण संख्या 38 240 किलोग्राम गांजा 2075 शीशी कफ सिरप 1700 नग नशीले टेबलेट म.प्र. ट्रग कंट्रोल अधिनियम के तहत दर्ज अपराधों की जानकारी 06 46 शीशी कफ सिरप 70 नग नशीले इंजेक्शन 60 नग नशीले टेबलेट 11 शहडोल पुलिस द्वारा अब तक की गई कार्यवाहियों को पुलिस अरधीक्षक शहडोल द्वारा प्रशंसित करते हुए भविष्य में भी इसी वेग से व्यापक कार्यवाहियां करने का संकल्प व्यक्त किया गया है। अपराध नियंत्रण की दिशा में नशा के व्यवसाय पर कठोर कार्यवाही पुलिस अरथीक्षक शहडोल की सर्वोपरि प्राथमिकताओं में से एक है। न केवल शहड़ोल जिले बल्कि अंतर्जिला एवं अंतर्राज्यीय नेटवर्क पर भी शहडोल पुलिस की नजर है एवं लगातार बड़ी कार्यवाही स्पष्ट रणनीति के तहत की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *