बड़ी खबर…कार लूट के दो आरोपी गिरफ्तार, दो फरार, सिंहपुर थाना क्षेत्र के केरहा गांव में दिया था वारदात को अंजाम

(सुधीर शर्मा-9754669649)

शहडोल। पुलिस अधीक्षक कुमार सौरभ के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया के मार्गदर्शन में पुलिस ने लूट के दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की है। वहीं दो आरोपी अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर है पुलिस कंट्रोल रूम में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन कर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि सिंहपुर थाना क्षेत्र के केरहा गांव में हुए लूट के वारदात में शामिल चार आरोपियों में दो को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपियों में प्रदीप उर्फ गोलू पिता शोभनाथ पाल उम्र 20 वर्ष निवासी चंदनिया थाना पाली एवं बीरेंद्र सराफ पिता धनेंद्र सराफ उम्र 20 साल निवासी चंदनिया के नाम शामिल है, इनके पास से लूट में प्रयोग कार एवं गाड़ी के कागजात बरामद किया गया है। गिरफ्तारी में थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह राजपूत, कोतवाली प्रभारी रावेंद्र द्विवेदी, एसआई केएन बंजारे, एएसआई रजनीश तिवारी, दिलीप सिंह, आरक्षक हरेंद्र सिंह, आरक्षक मनोज शुक्ला एवं सायबर सेल की सराहनीय भूमिका रही।

यह था मामला

सिंहपुर थाना क्षेत्र के केरहा गांव के समीप बदमाशों ने कार लूट की वारदात को अंजाम दिया था। कार चालक के साथ पहलें मारपीट किया और बाद में कार लेकर चंपत हो गए। घटना 13 मई सुबह लगभग साढ़े 04 बजें की है। प्रार्थी सतीश कुमार चौरसिया ने बताया कि वह बालाघाट से चचाई घर लौट रहा था, वह जैसे ही केरहा के महाकाल चौराहे से खैरहा की ओर मुड़ा तभी एक किलोमीटर की दूरी पर केरहा गांव के समीप सफेद कलर की स्वीफ्ट कार में सवार चार बदमाशो ने ओवरटेक करते हुए कार को सड़क पर आड़ा खड़ा कर कार से तीन युवक उतर कर मुझे पीटने लगे। वही एक युवक मेरी ओर बढ़ा और लाठी डंडे में मेरे ऊपर वार करने लगा, अपना वचाव करते हुए मैं बगल की खेत मे कूद गया जिसके बाद आरोपी कार लेकर फरार हो गए।

जंगल मे मिली कार

चालक ने घटना इसकी सूचना पहले डायल 100 को दी और बाद में थाने पहुंच कर पूरी घटना से पुलिस को अवगत कराया, जिस पर सिंहपुर थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर ने घटन के संबंध में पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया था, पुलिस कप्तान के निर्देशन में टीम ने आरोपियों को खदेड़ते हुए कार तो बरामद कर लिया था लेकिन आरोपी पुलिस की पकड़ से भाग निकले पुलिस ने उमरिया रोड पर करकेली स्टेशन के करीब एक किलोमीटर दूर कार को बरामद कर लिया था। आरोपी घेराबंदी और पकड़े जाने के डर से कार छोड़कर मौके से फरार हो गए थे, आखिरकार पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली है।

बारात के लिए मांगीं थी कार

मामले की खुलासा करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया ने बताया कि लूट का मुख्य आरोपी प्रदीप पाल अपने साथी संजय कोरी, बाबू यादव, बीरेंद्र सराफ के साथ किसी महंगे कार को लूटकर कटनी में बेचने की योजना बनाया था। घटना के दिन प्रदीप पाल अपने मालिक दिव्य प्रकाश आहूजा निवासी शहडोल की स्वीफ्ट कार लेकर सामतपुर जुमबेष कोल नामक दोस्त की शादी में गया था। जहां पर सुबह करीब साढ़े 4 बजे चारो ने मिलकर केरहा गांव के पास लूट की वारदात को अंजाम दिया है। मामले में अभी बाबू यादव और संजय कोरी फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed