भ्रष्टाचार का गढ़ बना ग्राम पंचायत पकरिया, लाखों की सडक़ चढ़ी भ्रष्टाचार की भेंट

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। अनूपपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत पकरिया में  सरपंच सचिव द्वारा  व्यापक पैमाने पर अनियमितताएं बरती गई है जिसे देखने और सुनने वाला कोई नहीं है ग्राम पंचायत पकरिया मे कुछ ही माह पूर्व बनी सडक  पूरी उखड़ चुकी है। लगभग 6 माह पूर्व 14 लाख रुपए की लागत से बनायी ्र्रगई सडक़  पूरी तरह भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है। गांव के नागरिक विनोद साहू और दीपक साहू ने बताया कि उक्त रोड में नाम मात्र की सीमेंट डाला गया है। और मिट्टी की जगह मुरूम युक्त मिट्टी मिलाकर रोड को बनाकर पैसे का बंदरबांट किया गया था जिसका हम लोगों ने विरोध भी किया लेकिन सरपंच सचिव और इंजीनियर पर इसका कोई असर नहीं पड़ा जिसका खामियाजा आज पकरिया की जनता भुगत रही है और शासन के पैसे का जमकर दुरुपयोग किया गया है और दूसरी तरफ सरपंच सचिव व इंजीनियर मालामाल हो गए हैं इसी तरह ग्राम नवा टोला में बनाई गई सडक़ भी गुणवत्ता विहीन है शासन द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाएं यहां पूरी तरह ठप पड़ी हुई है यहां की भोली.भाली जनता का सुनने वाला कोई नहीं हैइनकी है मिलीभगत 14 लाख में बने इस गुणवत्ता विहीन सीसी सडक़ की शिकायत ग्रामीणों द्वारा पूर्व सीईओ केपी राजोरिया के पास किया गया था लेकिन उसकी जांच में भी यह लोग ले देकर मामले को निपटा दिए इस गड़बड़झाला  में ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती फूल मती सचिव उत्तम पटेल व इंजीनियर राजेश शर्मा की मिलीभगत से कार्य को अंजाम दिया जा रहा हैस्वच्छता को पलीताग्राम पंचायत पकरिया में चारों ओर गंदगी का साम्राज्य है जिसके कारण नालियां पूरी तरह बजबजा  रही हैं और लोग तरह.तरह की बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं और सरपंच को केवल सफाई के नाम पर फर्जी भी लगा कर पैसे आहरण करने में मस्त हैं वह भी तब जब देश के प्रधानमंत्री ने स्वच्छता अभियान चलाकर गांव को स्वच्छ रखने का फरमान जारी किया है लेकिन उनके फरमान का इस पंचायत में कोई असर पड़ता दिखाई नहीं पड़ रहा है।


लाखों रुपए का फर्जी बिल भुगतान

शासन ने जब से डिजिटल इंडिया का नारा देते हुए भ्रष्टाचार को कम करने के लिए सभी के निर्माण कार्यों की मजदूरी निर्माण कार्य का भुगतान सीधे उनके खाते में देने का निर्णय लिया जो की काबिले तारीफ है लेकिन इन लोगों ने उसमें भी भ्रष्टाचार करने का तरीका निकाल लिया और कभी सचिव के नाम पर तो कभी किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर फर्जी बिल लगाकर उसका भुगतान उसके खाते में लाखों की तादाद में कर दिया जाता है और फिर उससे वह पैसा लेकर अपने उपयोग में लिया जा रहा है इसकी जांच अति आवश्यक है तो खुद दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा क्योंकि उन्होंने इस तरह के फर्जी दिल लगा कर भुगतान लाखों में किए हैं यहां तक की मजदूरों के नाम पर भी पैसा डाल कर फिर उनसे वापस ले लिया जाता है जो जांच का विषय कार्यवाही की मांग ग्राम पंचायत पकरिया में हुए लाखों के भ्रष्टाचार और जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम जनता तक ना पहुंचने की निष्पक्ष जांच कराने की मांग गांव के ही मोइन खान दीपक साहू विनोद साहू व सैकड़ों ग्रामीणों ने जिले के कलेक्टर महोदय से मांग किया है कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराकर दोषी सरपंच सचिव इंजीनियर के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्यवाही किए जाने की मांग किया है ताकि शासन की योजनाओं का लाभ आम जनता को मिल सके अगर इनकी सूक्ष्म जांच होती है तो इन के काले कारनामे इतने बड़े हैं कि सलाखों के पीछे जाने से कोई नहीं रोक सकता।

इस संबंध में जब सचिव उत्तम पटेल से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि इस तरह का कार्य केवल हम ही नहीं कर रहे हैं हर पंचायतों में चल रहा है और रही बात भ्रष्टाचार की तो हम जमाने से करते आ रहे हैं और हमारा आज तक कहीं कुछ नहीं बिगड़ा है हमारी पहुंच ऊपर तक है सभी को हिस्सा देना पड़ता है अकेले हम नहीं खाते हैं हमारी शिकायत आपको जहां करना हो कर दो इससे हमें कोई फर्क पडऩे वाला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *