मध्यप्रदेश में अब तक 12482 कोरोना संक्रमित

भोपाल । राज्य में 24 घंटे में कोरोना के 222 नए केस सामने आए। वहीं, 9 लोगों की मौत हुई। 138 लोग स्वस्थ होकर घर लौट गए। अब प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 12482 हो गई है। राज्य में संक्रमण से 534 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। अब तक 9473 लोग कोरोना संक्रमण को मात देकर घर लौट चुके हैं। जबकि प्रदेश में कुल 2441 संक्रमित ऐसे हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।
मध्य प्रदेश में अनलॉक होने के बाद सबसे ज्यादा केस राजधानी भोपाल में मिल रहे हैं। 24 दिन में 77 नए मामले सामने आए। बुधवार को इंदौर में 34 संक्रमित मिले। ग्वालियर-चंबल संभाग में भिंड और मुरैना हॉटस्पॉट जिले बनते जा रहे हैं। बुधवार को मुरैना में 19 और भिंड में 22 केस मिले।
बुधवार को 7166 सैंपल की जांच रिपोर्ट में 222 पॉजिटिव केस मिले। 6969 सैंपल निगेटिव पाए गए। इसमें 2.6% संक्रमित पाए गए। राज्य में एक्टिव कंटेनमेंट एरिया 1119 हैं। प्रदेश 924 फीवर क्लीनिंग का संचालन हो रहा है। यहां पर बुखार, सर्दी-खांसी के मरीजों का लक्षणों के अनुसार इलाज किया जा रहा है। कोविड 19 का सैंपल भी लिया जा रहा है।
कोरोना संक्रमण के बीच राजधानी में सर्दी, खांसी, बुखार, अस्थमा (सारी- सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी इलनेस) और इनफ्लूएंजा के 13 हजार 932 मरीज मिले हैं, जो पूरे प्रदेश में सबसे ज्यादा हैं। क्लीनिक में जांच के बाद सभी को इलाज के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वारैंटाइन और होम आइसोलेट किया गया है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने इन मरीजों की निगरानी एप के मार्फत शुरू कर दी है। यह खुलासा एमपी कोविड- 19 मैनेजमेंट की रिपोर्ट में हुआ है।
मप्र में 1 जुलाई से ‘किल कोराना’ अभियान चलेगा। इसमें 10 हजार टीम एक दिन में 10 लाख घरों का सर्वे करेंगी। हर टीम 100 घरों में पहुंचेगी। सर्वे में बुखार, सर्दी-खांसी के साथ डेंगू, मलेरिया आदि का ब्योरा भी जुटाया जाएगा। अभियान की शुरुआत भोपाल से होगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को सभी कमिश्नर-कलेक्टर से कहा कि इसके लिए 3 लाख लोगों को जांच, उपचार, क्वांरेंटाइन, सर्विलांस आदि का प्रशिक्षण दिया गया है। स्वास्थ्य, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सर्वे करेंगे। कोविड मित्र बनाए जाएंगे। सार्थक एप से जानकारी की एंट्री की जाएगी।
भोपाल में राजभवन में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। बुधवार को यहां 12 सुरक्षाकर्मी संक्रमित पाए गए। इसके साथ राजभवन परिसर में रहने वाले संक्रमितों की संख्या 13 से बढ़कर 25 हो गई है। स्वास्थ्य संचालनालय के अफसरों के अनुसार, यहां एक सुरक्षाकर्मी की लापरवाही से 15 अन्य संक्रमित हो गए। सैंपल जांच के बाद सुरक्षाकर्मी न तो क्वारैंटाइन सेंटर में शिफ्ट हुआ, न ही उसे होम आइसोलेट किया गया। वह 21 जून तक राजभवन में ड्यूटी करता रहा। 22 जून को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसके दो अन्य साथियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनके संपर्क में रहे 12 अन्य सुरक्षाकर्मियों ने सैंपल जांच को दिए थे, जो अब पॉजिटिव मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *