मशूद अजहर को वैश्विक आंतकी घोषित किया जाना एक अभूतपूर्व निर्णय-हनुमान शरण

बम्हनी। बम्हनी निवासी एडवोकेट हनुमान शरण तिवारी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में गत महीने एक आतंकी हमला हुआ था ,जिसमें सी.आर.पी.एफ. के 46 जवान मारे गये थे। उक्त घटना के पीछे जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मशूद हजहर की भूमिका उजागर हुई थी उक्त घटना से क्षुब्ध भारत ने संयुक्त राष्ट्र संघ मे मशूद अजहर को वैश्विक आंतकी घोषित किये जाने का प्रस्ताव रखा,जिसका समर्थन विश्व के कई छोटे-बड़े देशो ने किया। चीन ने भी भारत का साथ दिया। इन सबकी वजह से दबाव में आकर संयुक्त राष्ट्र द्वारा गत दिनों मशूद को वैश्विक आंतकी करार दिया गया। संयुक्त राष्ट्र के उक्त निर्णयानुसार जहां मशूद हजहर विदेश यात्रा नही कर सकेगा, वहीं उसकी परिसम्पत्तियां भी जप्त होगी तथा उसे हथियारों की विक्री नही की जा सकेगी। इन प्रतिबंधो से आतंकवादियों को एक कड़ा संदेश जायेगा तथा वे आंतक का राश्ता छोडऩे को मजबूर होंगें। कुल मिलाकर, संयुक्त राष्ट्र संघ का मशूद अजहर को अंतराष्ट्रीय आंतकवादी घोशित किये जाने का निर्णय आतंकवाद के उन्मूलन की दिशा में उठाया गया एक कारगर कदम ही प्रतीत होता है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *