महिलाओं ने हल्दीबाड़ी माइंस का किया घेराव

Ajay Namdev-7610528622

डोला। हसदेव क्षेत्र अंतर्गत वेस्ट जेकेडी हल्दीबाड़ी भूमिगत खदान में महिलाओं ने घंटों तक अपनी मांगों को लेकर खान प्रबंधन से चर्चा करती रही सुबह 8 बजे से लेकर 10 बजे तक माइंस के पास महिलाओं अपनी मांगों को लेकर डटे रहे अनूपपुर जिले के अंतिम छोर पर बसा ग्राम पंचायत डोला रामनगर के निवासरत जनों को राजनगर खुली खदान परियोजना द्वारा पुनर्वास किया गया था जिन्होंने रामनगर आरटीओ चेक पोस्ट के पीछे कुड़कु दफाई श्याम बाई मोहल्ला के महिलाओं ने हल्दीबाड़ी भूमिगत माइंस को बंद रखा एवं आश्वासन मिलने पर पुन: अपने घर लौटे कारण यह था कि जो लोग रामनगर में निवासरत थे निवासरत लोगों ने आरटीओ चेक पोस्ट के पीछे अपना मकान बनाकर जीवन यापन कर रहे हैं कुछ दूरी पर बगल में हल्दीबाड़ी माइंस भूमिगत खदान चलाई जा रही है यह भूमिगत खदान जो छत्तीसगढ़ में आता है और माइंस के अंदर मध्य प्रदेश से काले हीरे का उत्खनन किया जा रहा है भूमिगत खदान में जबरदस्त ब्लास्टिंग करने से लोगों के घरों में कई दरार पड़ गई हैं एवं उनकी पानी की टंकियां कई जगहों से फट चुकी है जहां रहने पर हमेशा डर बना रहता है वहीं पानी की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि जमीन के नीचे उत्खनन करने से पानी के स्रोत सब सूख गए हैं हैंडपंप सूखे पड़े हैं हैंडपंपों से हवा उगल रहे हैं पानी की टंकियों में कई जगहों से दरार पड़ जाने के कारण टंकी में पानी नहीं रहता राजनगर ओसीएम द्वारा टैंकरों के माध्यम से पुनर्वास के लोगों को हम लोगों को पानी सप्लाई की जाती है वह पानी 1 दिन से ज्यादा टंकी में नहीं रुक पाता है ब्लास्टिंग के कारण हम सब महिलाओं ने हल्दीबाड़ी माइंस में कई बार जा जा जाकर खान प्रबंधन मैनेजर से शिकायत करने के बावजूद भी प्रबंधन द्वारा कोई समस्या का समाधान नहीं किया गया तो 19 जुलाई को हम सभी महिलाओं ने हल्दीबाड़ी माइंस जाकर माइंस बंद करने को कहा जिससे ब्लास्टिंग ना हो दोनों के बीच में घंटों तक तू तू मैं मैं चलती रही घंटों तक माइस बन रही मैनेजर ने कहा हमने आपकी शिकायत कई बार उच्च अधिकारियों को दे दी है उच्च अधिकारी हमारी कोई बात नहीं सुनते हम मजबूर हैं गुस्साए जनता ने लगभग 1 घंटे तक किसी को माइंस के अंदर आने से मना कर दिया कुछ देर बाद मैनेजर द्वारा यह कहा गया हम आपकी शिकायत उच्च अधिकारी को देंगे क्षेत्रीय प्रबंधन को देंगे हमें आप लोग 1 सप्ताह का मौका दे दे अगर आपका 1 सप्ताह के भीतर कोई कार्य नहीं होता है तो आप लोग माइंस में आकर कार्य बंद करने की कार्य कर सकते हैं ग्रामीण महिलाओं ने कहा जो माइंस का पानी बाहर फेंका जा रहा है नदी नालों में बहाए जा रहे है उस पानी को पाइप लाइन के माध्यम से रामनगर श्याम बाई मोहल्ले में बनी तालाब में पानी डलवा दें जिससे हम लोगों का निस्तार हो सके इसके बाद भी प्रबंधन के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है इन्हीं सब बातों को लेकर गुस्साए महिलाओं ने घंटे तक माइंस बंद किया मैनेजर के बार-बार 1 सप्ताह का आश्वासन देने पर हम सभी महिलाएं खान प्रबंधन पर विश्वास करके पुन: वापस अपने घर लौट गए हम लोगों के साथ साथ ग्राम पंचायत डोला के सरपंच पुत्र दिनेश एवं उपसरपंच विकास पांडे लालमन एवं संजय चौरसिया के साथ साथ पुनर्वास की महिलाएं अपनी मांगों को लेकर शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *