महिला अपराधों के प्रति बरती लापरवाही तो कप्तान ने किया निलंबित, उप निरीक्षक गोविंद भगत पर गिरी कार्रवाई की गाज


(सुधीर शर्मा9754669649)

शहडोल। आग में झुलसी महिला की मौत के बाद विवेचना की जिम्मेदारी एसआई गोविंद भगत को सौंपी गई, तहसीलदार द्वारा दिए गए जांच के रिपोर्ट के बाद आरोपी के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला कायम करना था लेकिन एसआई गोविंद भगत ने लापरवाही बरती जिसका यह परिणाम हुआ कि मामले में संवेदनशीलता दिखाते हुए पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह कुशवाह ने उक्त एसआई को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। दरअसल मामला ब्यौहारी थाना क्षेत्र के भन्नी गांव में एक 20 वर्षीय नवविवाहित मायावती पति सुखपाल चौधरी के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया गया था, महिला ने मरने से पहले इलाज के दौरान तहसीलदार ब्यौहारी को पूरी घटना क्रम बताया और उसके बाद उसकी मौत हो गई। बयान के आधार पर विवेचना अधिकारी गोविंद भगत को आरोपियों के खिलाफ धारा 307 कायम करना था लेकिन विवेचक के द्वारा ऐसा नही किया गया, उन दिनों गोविंद भगत ब्यौहारी में ही पदस्थ थे। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने अधीक्षक ने महिला अपराधो के प्रति लापरवाही बरतने पर विवेचक गोविंद भगत को निलंबित कर दिया है, वहीं पुलिस रक्षित केन्द्र में आमद देने का आदेश जारी किया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *