मारपीट के बाद रेफर हुई महिला, पुलिस ने दर्ज की एनसीआर

शहडोल। जिले के लगभग थानों में नियुक्त किये थाना प्रभारी अपने थाने में अपने ही मातहतों के सामने बौने से दिख रहे हैं, कुछ थानों को एएसआई तो कहीं एसआई तो कहीं मुंशी निरीक्षक की जगह डील कर रहे हैं, कोयलांचल के थाने भी इससे अछूते नहीं है, हालात इतने बद्तर हो चुके हैं, जिसके हाथ जो लग रहा है, जो शिकायत जिसके पास पहुंच रही है, उसे अपने स्तर पर निपटाने में नहीं चूक रहे हैं। नया मामला अमलाई थाना क्षेत्र का है, जहां सिर्फ बकरी के द्वारा भिंडी चरने के विवाद मे युवक ने पड़ोस की महिला को इतना पीटा की उसे बुढ़ार के बाद शहडोल जिला चिकित्सालय में आकर भर्ती होना पड़ा, मजे की बात यह है कि इस पूरे मामले से थाना प्रभारी अंजान है और पीडि़त महिला और उसके परिजन गंभीर मारपीट का आरोप लगा रहे हैं और थाने पहुंची शिकायत को एफआईआर की जगह प्रधान आरक्षक अशोक वर्मा ने एनसीआर में ही निपटा दिया।
यह है मामला
बीती 10 जून को अमलाई थाना अंतर्गत धनपुरी नंबर 2 में रहने वाली अफसरी बेगम नाम की महिला की बाड़ी में लगी भिडिंयों को पड़ोस में रहने वाले परिवार की बकरियां चट कर गई। यह शिकायत पीडि़त महिला ने पड़ोसियों को दी, इस बात को लेकर दोनों परिवारों में कहा-सुनी हुई, शाम करीब 6 बजे के आस-पास पड़ोसी परिवार का लड़का मोंटी पिता इकबाल जब घर आया तो उसे इस विवाद की खबर लगी, गुस्से में मोंटी ने अफसरी बेगम के साथ गंभीर मारपीट की। पुलिस को दिये गये बयान में पीडि़त महिला ने इस बात का स्पष्ट उल्लेख किया कि कथित युवक ने झापड़ मारी और छीना-झपटी की, जिससे उसकी नाम से खून निकलने लगा, जिससे वह अर्धविक्षिप्त हो गई। घटना के दौरान पूजा व शेरू नाम के दो लोगों ने बीच-बचाव किया, अन्यथा घटना दूसरा रूप ले सकती थी। पुलिस ने शिकायत सुनने के बाद एमएलसी करवाई और धारा 155 के तहत एनसीआर काटकर परिजनों को सौंप दी।
महिला कर रही न्याय की मांग
पीडि़त महिला के साथ हुई घटना के बाद पुलिस ने धारा 155 के तहत एनसीआर काटकर उसकी एक कापी सौंप दी, इस संबंध में जब थाने में इस मामले को डील कर रहे अशोक वर्मा से बात की गई तो उसने इसे सामान्य घटना बताया, वहीं महिला के परिजन बुढ़ार में इलाज कराने के बाद उसके स्वास्थ्य में सुधार न होने के कारण वहां से उसे लाकर शहडोल जिला चिकित्सालय में भर्ती करा दिया, जिला चिकित्सालय में भर्ती महिला के पति ने बताया कि सिर मे चोट लगने के कारण महिला असमान्य हो गई है और संभवत: इसे इलाज के लिए शहडोल से बाहर भी ले जाना पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *