मेडियारास फाटक बन गया जुए का गढ

पहले राका अब लाला बर्बाद कर रहा युवाओं का कैरियर
अनूपपुर। लगभग एक दशक से मेडियारास फाटक के नाम से मशहूर चौराहा जुए जैसे कारोबार को ऊंचाईयां देने के साथ फेमस करने में काफी योगदान रहा है। लगभग युवा वर्ग इसी चौराहे पर सुबह से लेकर देर रात्रि तक नजर आते है। फाटक के आस-पास का एरिया जुआरियों का गढ बन चुका है, दर्जनभर युवा अन्य जगहों से आते है और बाकी युवा मेडियारास ग्राम के होते है जो जुए के फड को संचालित करते है।
ऐसे बना गढ
थाना चचाई अंतर्गत ग्राम मेडियारास का पुराना फाटक जो कि अब पूर्णत: बंद हो चुका है, फाटक के उस पर का एरिया लगभग खेतो का क्षेत्र है, जहां कई स्थानों पर जुआरियों का ठीका है, जिसे बदल-बदल कर उपयोग किया जाता है, जुआरियों के लिस्ट में यू तो बहुत नाम है, लेकिन युवाओं की शुरूआती दौर में एक नाम है राधे… यहां से खेल शुरू होता है और जुए का कारोबार राका तक पहुंचा और अब नरेन्द्र उर्फ लाला के हाथ में कमान है, जहां गांव के अलावा आस-पास के क्षेत्र से नामी व बेनामी खिलाडी अपनी किस्मत आजमाने यहां पहुंचते है, दशकों से क्रियाकलाप चलता रहा, नाम बदलते रहे और जुए का गढ फाटक का क्षेत्र बनता गया।
और खपा दी मेडियारास के युवाओं की जिंदगी


मेडियारास ग्राम से यूं तो जुए का पुराना नाता रहा है, लेकिन एक स्थिर चाल से चलने वाले खेल को कई बार पुलिस के हस्ताक्षेप से कमी भी आई, लेकिन जब से युवाओं ने इस ओर पैर फैलाया है, तब से लगभग 30 प्रतिशत युवा जुए के चपेट में आ चुके है। कुछ लोग संचालन करते है और कुछ युवा इनके सपोर्ट में रहते है, बाकी खेल खेलने के लिए। वर्तमान में युवा पीढी जुए के लत में इस तरह भीग चुका है कि प्रतिदिन इन्हे सिर्फ जुए का ठीहा ही नजर आता है।
कोई न कोई होता है सक्रिय
फाटक का क्षेत्र जुए के लिए मशहूर भी इसलिए हो गया कि एक व्यक्ति कभी जुआ नही खिला पाया है, नाम कई बदले, लेकिन अभी तक इस क्षेत्र में पुलिस ने धरपकड नही की है, जिसके कारण जुआ का संचालन बंद नही हो सका है, इन दिनों नरेन्द्र उर्फ लाला का जुआ चरम पर है, जहां शाम ढलने से पहले देर रात्रि तक फाटक के उस पार संचालन होता है, अब देखना यह है कि चचाई पुलिस दशकों से जुए का गढ बन चुका मेडियारास फाटक को किस तरह से रोक पाता है।
इनका कहना है
इस तरह के कारोबार को समाप्त करना और एक अच्छे व शांत समाज का निर्माण करना पुलिस का दायित्व है, लगातार हमारे द्वारा जानकारी जुटाई जा रही है, किसी भी दिन दबिश देकर जुआरियों को पकड लिया जायेगा।
प्रवीण साहू, उपनिरीक्षक, थाना चचाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *