मोबाइल स्टोर की आड़ में रेलवे ई-टिकट बनाने वाला पकड़ाया

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। 8 जून को निरीक्षक आरपी सिंह रेसुब, अगुशा, अनूपपुर मातहत बल सदस्यों के साथ समय करीबन 12:30 बजे पेंड्रा रोड गौरेला स्थित मेडिकल स्टोर के संचालक को रेल ई-टिकट व्यापार के संबंध में पूछताछ करने पर वह अपना नाम व पता अब्दुल शाहिद वल्द अब्दुल समद उम्र 42 वर्ष निवासी पुराना गौरेला वार्ड क्रमांक 6 थाना गौरेला जिला बिलासपुर छत्तीसगढ़ बताया। आगे पूछताछ करने पर उसने बताया कि रेलवे ई-टिकट बनाने का कार्य करता है परंतु मांग करने पर आईआरसीटीसी की लाइसेंस प्रस्तुत नहीं कर सका, वह अपने मोबाइल से कुल 3 निजी आईडी बनाया था जिससे वह ग्राहकों के मांगे जाने पर टिकट के किराए की अतिरिक्त 500 रुपये प्रति टिकट कमीशन लेकर टिकट उपलब्ध कराता है एवं टिकट का पैसा अपने एसबीआई अकाउंट एवं पेटीएम से आईआरसीटीसी को स्थानांतरित करता था, आवश्यकता पड़ने पर वह जिनियस ऑनलाइन सेंटर कोरबा व दिल्ली के एजेंट के माध्यम से टिकट मंगाकर ग्राहकों को देता था। अब्दुल शाहिद के मोबाइल को चेक करने पर 45 नग टिकट जिसकी कीमत 75 हजार 17 रुपये की मिली। उसके कब्जे से रेलवे ई-टिकट, एक मोबाइल, एसबीआई बैंक का पासबुक एवं नगद 3500 रुपये जप्त किया गया। आईआरसीटीसी से अब्दुल शाहिद के मोबाइल से 1 वर्ष तक बनाई गई ई-टिकट विवरण प्राप्त करने पर 242 यात्रा की गई टिकट मिली जिनकी कीमत 3लाख12हजार800 रुपए हैं। रेलवे टिकट को अवैध रूप से बनाकर ग्राहकों को बेचने के कारण रेल अधिनियम की धारा 143 के अंतर्गत गिरफ्तार कर अग्रिम कार्यवाही हेतु रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पेंड्रा रोड को शुरू किया गया है। उक्त कार्यवाही में अनूपपुर के निरीक्षक आरपी सिंह, प्रधान आरक्षक एस बी प्रसाद एवं आरक्षक पीके मिश्रा की मुख्य भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *