यहा हेलमेट पहना कर रेत की डग्गी छोड़ी जा रही है…


शहडोल. इनदिनों शहर में खप रही चोरी की रेत को खुली छूट दे दी गई है। जबकि जिम्मेदार विभाग शाम को बगैर हेलमेट वालो पर समझाइस या कारवाही कर दी जा रही है।
शहर सहित सभी जगह रेत अवैध
शहर में खप रही रेत पूरी तरह अवैध है। फिर भी दिलेरी से शहर के बीचों बीच सुबह से ही बगैर नंबर की डग्गिया रेत ढोते देखी जा सकती है। जान कर भी प्रशासन इन दिनों सुबह देर से उठ रहा है। मानो सारे काम समय से पहले करा दिया जा रहा है। शहर के कई नेता अभिनेता भी डग्गी की रेत में फिसल रहे हैं।


शाम होते ही दिखती है जागरूकता
ये तो सच बात है कि शहर में इनदिनों जागरूकता हर तिराहे चौराहे पर शाम होते दिखने लगती है।मानो केंद्र सरकार के नियम यही लागू हो रहे हैं।ताज्जुब की बात है शहर में लगे कैमरे को भी शाम को दिखने लगता है। और रात होते ही दिखना बंद हो जाता है।यहा हेलमेट की चेकिंग सुबह से शाम बराबर होती है। और लोग भी हेलमेट पहनना अब सिख रहे हैं। लेकिन यहा डग्गी की अवैध रेत पकड़ना मुश्किल होता जा रहा है।
रात से लेकर सुबह तक हो जांच
प्रशासन यदि चोरी की अवैध रेत को पकड़ने का समय तय कर ले तो शायद शहर में डग्गी दौड़ना बंद हो जाएगी । और अच्छे खासे खनिज की चोरी पकड़ी जा सकती है।
यहा आधी रात से ही रेत की दशा और दिशा तय कर दी जाती है।ताकि कोई गड़बड़ न हो और रेत भी ठीहे पर पहोच जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यहा हेलमेट पहना कर रेत की डग्गी छोड़ी जा रही है…


शहडोल. इनदिनों शहर में खप रही चोरी की रेत को खुली छूट दे दी गई है। जबकि जिम्मेदार विभाग शाम को बगैर हेलमेट वालो पर समझाइस या कारवाही कर दी जा रही है।
शहर सहित सभी जगह रेत अवैध
शहर में खप रही रेत पूरी तरह अवैध है। फिर भी दिलेरी से शहर के बीचों बीच सुबह से ही बगैर नंबर की डग्गिया रेत ढोते देखी जा सकती है। जान कर भी प्रशासन इन दिनों सुबह देर से उठ रहा है। मानो सारे काम समय से पहले करा दिया जा रहा है। शहर के कई नेता अभिनेता भी डग्गी की रेत में फिसल रहे हैं।


शाम होते ही दिखती है जागरूकता
ये तो सच बात है कि शहर में इनदिनों जागरूकता हर तिराहे चौराहे पर शाम होते दिखने लगती है।मानो केंद्र सरकार के नियम यही लागू हो रहे हैं।ताज्जुब की बात है शहर में लगे कैमरे को भी शाम को दिखने लगता है। और रात होते ही दिखना बंद हो जाता है।यहा हेलमेट की चेकिंग सुबह से शाम बराबर होती है। और लोग भी हेलमेट पहनना अब सिख रहे हैं। लेकिन यहा डग्गी की अवैध रेत पकड़ना मुश्किल होता जा रहा है।
रात से लेकर सुबह तक हो जांच
प्रशासन यदि चोरी की अवैध रेत को पकड़ने का समय तय कर ले तो शायद शहर में डग्गी दौड़ना बंद हो जाएगी । और अच्छे खासे खनिज की चोरी पकड़ी जा सकती है।
यहा आधी रात से ही रेत की दशा और दिशा तय कर दी जाती है।ताकि कोई गड़बड़ न हो और रेत भी ठीहे पर पहोच जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *